राजभर के करीबी नेता से अखिलेश की मुलकाता पर भड़के अरविंद राजभर..

समाजवादी पार्टी अपने मिशन 2024 को लेकर 9 अगस्त से पदयात्रा शुरु कर चुकी है..इस पदयात्रा की के पहले चरण की शुरुआत गाजीपुर से होगी..इस पर सुभासपा के राष्ट्रीय महासचिव अरविन्द राजभर ने अखिलेश यादव (Arvind Rajbhar Furious At Akhilesh meeting) पर निशाना साधा औऱ कहा कि अगर इस यात्रा को हवा हवाई कहा जाए तो सही होगा..ये लोग सड़क पर यात्रा निकाल रहे हैं..अगर पदयात्रा गांव में निकालते तो अच्छा रहता..क्योंकि सुभासपा ने अपने ने गांव में अपनी पैठ बना रखी है..और गांव के लोग सुभासपा के साथ है..

अरविंद राजभर ने कहा कि सपा की इस पदयात्रा से ना तो सुभासपा के संगठन पर कोई असर पड़ेगा ना ही सुभासपा के वोट पर..क्योंकि जनता ये साफ तौर पर जान चुकी है कि अखिलेश यादव जो पदयात्रा निकाल रहे हैं वह ओपी राजभरा की देन है..और ओम प्रकाश राजभर ने अखिलेश यादव को एसी से बाहर आने की सलाह दी है उसकी देन है..अरविंद राजभर (Arvind Rajbhar Furious At Akhilesh meeting) ने ये भी कहा कि अखिलेश यादव की आदत जाने वाली नहीं है..रस्सी जल गई लेकिन ऐठन नहीं गई..अगर वह खुद जाकर के इस यात्रा को हरी झंडी देकर चालू करते तो शायद थोड़ा असर भी होता..लेकिन वो दूसरे के सहारे अपनी नैया पार करना चाहते हैं..

साथ ही अरविंद राजभर कहते हैं कि सुभसपा की ताकत तो बीजेपी ने भी देखी है..जब उनके साथ थे..तब क्या था..औऱ जब उनके साथ नहीं रहे तब क्या है रिजल्ट सबके सामने है..और ये बात समाजवादी पार्टी (Arvind Rajbhar Furious At Akhilesh meeting) भी जानती है कि वो पश्चिमांचल में हारती आई है..औऱ पूर्वांचल में सपा की इज्जत इसलिए बच गई क्योंकि वहां पर ओम प्रकाश राजभर साथ में थे..

सुभासपा महासचिव ने कहा कि ओम प्रकाश राजभर अखिलेश यादव को सलाह देते थे कि आप जो काम कर रहे हैं वो चुनाव से पहले करना चाहिए था..अगर चुनाव के पहले काम किया जाता तो रिजल्ट शायद कुछ और होता..लेकिन अखिलेश यादव को कोई बात समझ में नहीं आ रही है..ये सब दिखावा है इससे उनको कुछ हासिल होने वाला नहीं है..क्योंकि अब अखिलेश यादव 1जिले में 1 नहीं दिन 10 दिन कर भी पदयात्रा निकाले तब भी कुछ होने वाला नहीं है..क्योंकि समाजवादी पार्टी (Arvind Rajbhar Furious At Akhilesh meeting) को लेकर दलित पिछड़ो अल्पसंख्यकों में जो धारणा बन चुकी है उसे अखिलेश यादव अब उसे बदल नहीं सकते हैं..

ओपी राजभर के गाजीपुर में रहने के पीछे अरविन्द राजभर (Arvind Rajbhar Furious At Akhilesh meeting) ने कहा कि इस समय सदस्यता अभियान का कार्यक्रम चल रहा है..अखिलेश ने सदस्या अभियान अब चालू किया..और हमारा चुनाव के बाद से ही शुरु हो चुका है..हम पूर्वांचल में पूरी तरह से जमा हुए हैं..औऱ हमारे तो 20-30 प्रोग्राम रोज हो रहे हैं..हमारा देखा देखी अखिलेश भी वहीं कर रहे हैं..और उनकी यात्रा से हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा..क्योंकि वो कितना भी कर ले कोई पूछने वाला नहीं होगा..

राजभर से जब शशि प्रताप सिंह और अखिलेश यादव को मुलाकात (Arvind Rajbhar Furious At Akhilesh meeting) पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि हम उन्हें जानते ही नहीं..अब जब हम उन्हें जानते ही तो फिर चाहे वो अखिलेश से मुलाकात करें..या फिर किसी औैर से शशि प्रताप सिंह को लेकर बनारस में जो धारणा बनी है वो तो बनी रहेगी..वह दाग धुलने वाला नहीं..वो बनारस में इनपर लग चुका है..अब चाहे वो अखिलेश यादव से मुलाकात करें या फिर नेताजी से कुछ होने वाला नहीं है..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *