राष्ट्रवादी चटनी चाटते रहिए..अपनी जेब कटाते रहिए..अंधभक्ति का गीत गाते रहिए : संपादकीय व्यंग्य

Pragya Ka Panna Editorial
Pragya Ka Panna Editorial

हिंदुस्तान में महंगाई से हाहाकार मचा है..खाने और गाड़ी चलाने दोनों तरह के तेल बेकाबू रफ्तार से भाग रहे हैं..हिंदुस्तान की सरकार से पूछा गया कि खाने का तेल इतना महंगा हो गया है भईया…बीजेपी सरकार में तो सब ईमानदारी के पुतले हैं कोई कालाबाजी तो करता नहीं होगा..तो फिर तेल के दाम क्यों सपनों वाली बुलेट ट्रेन की स्पीड से भाग रहा है..इसका जो जवाब कृषि मंत्री ने दिया है उसको सुनकर आप पेट पकड़कर हसेंगे..और समझदार होंगे तो माथा पीट लेंगे..

विश्व गुरू बनने जा रहे भारत के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर बोले..हमने मिलावट को बंद किया है..इसलिए सरसों का तेल महंगा हो गया है..ये भारत सरकार का बहुत महत्वपूर्ण फैसला है..कृषि मंत्री ने कहा कि इसका फायदा देशभर के तिलहन और सरसो में काम करने वाले किसानों को होने वाला है..दोस्तों सच बात बताऊं किसानों को फायदा नहीं हुआ..अडाणी को फायदा हुआ है..इधर कृषि मंत्री ने मिलावट बंद की उधर अडाणी जी ने अपने सरसों की बोतल पर दाम 200 पार के छाप दिए..है ना गजब संयोग..या फिर अडाणी वाला भी मिलावट कर रहा था..

जब सरकार ने कहा होगा की शुद्ध तेल बेचो तो बेचारे ने MRP बढ़ाकर छाप दी और हो गया तेल शुद्ध ..तोमर का कहना है कि जो भी दाम बढ़ेंगे उस पर सरकार की नजर है..नरेंद्र सिंह तोमर जी आप होंगे कृषि मंत्री लेकिन मेरी एक बात सुन लीजिए तेल महंगा होने से किसानों को कोई फायदा नहीं होने वाला है..देश को बेवकूफ मत बनाईये..इस देश का ज्यादातर किसान लाही..यानी सरसो खेत से काटकर पिटकर बेच देता है..जिसको बड़ी बड़ी कंपनियां खरीद लेती हैं..फिर उस सरसों को कंपनियां अपनी मिलों में पेरती हैं..उसका तेल निकलता है..पैकिंग होती है और बाजारों में बिकता है..

-----

आप कहते हैं मिलावट रोकी है तो सरसो के तेल के दाम बढ़ गए हैं..आंखें खोलिए अडानी की तेल की बोतल पर दाम प्रिंट होकर आ रहे हैं…ये आपके मिलावट रोकने से नहीं हुआ..तेल बाजार में अडानी जैसी कंपनियों ने खेल कर दिया है..मिलावट खत्म करने से दाम उछलते तो बोतल पर महंगे रेट प्रिंट होकर नहीं आने लगते..खैर आपके मिलावट रोकने से गांव के रामलाल किसान को क्या फायदा हुआ..मैं कहती हूं ढेला भर भी फायदा नहीं हुआ..बड़ी बड़ी बातें दिल्ली में बैठकर करने में बड़ी आसान होती हैं..किसान के घरों में कोल्हू नहीं लगा..वो सरसों से तेल निकालकर नहीं बेचता..

-----

इन्होंने सरसों के तेल में मिलावट बंद कर दी है..इसलिए तेल महंगा हो गया है..सही बात बताऊं तो इनको भी नहीं मालूम कि तेल महंगा क्यों हुआ..ये सब कॉर्पोरेट का खेल है..ये कह रहे हैं कि इन्होंने मिलावट रोक दी है इसलिए महंगा हो गया.. इसका मतलब क्या है कि पूरा हिंदुस्तान अब तक मिलावटी तेल खा रहा था..कृषि मंत्री ने आंखें 7 साल बाद खुली हैं..7 साल से ये सो रहे थे..क्या किया जा सकता है भाई बनिए आप लोग बेवकूफ बनिए..ऱाष्ट्रवादी चटनी चाटिए और अंधभक्कित का गीत गाते रहिए..क्योंकि इससे ज्यादा आप लोगों से कोई उम्मीद की भी नहीं जा सकती..कोरोना काल में सरकार और कॉर्पोरेट घरानों ने मिलकर आपको चूना लगाया है..रिटेल महंगाई चरम पर पहुंच गई है..

देश में पेट्रोल और डीजल भी दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की कर रहे हैं..लेकिन किसी के कान पर जूं नहीं रेंग रहा है..सरकार से पूछो तो कहती है हम क्या सकते हैं..हमारा खजाना खाली है…जनता से पूछो तो वो कहती है तुम्हारी खाली है..तो हमारे घर में कौन से पैसों के पेड़ उग आये हैं जो दिन रात तेल के दाम बढ़ाए जा रहे हो..दोस्तों देश के 7 राज्यों में पेट्रोल के भाव 100 रुपये के पार जा चुके हैं..

श्रीगंगानगर में डीजल भी 100 के पार हो चुका है..सरकार ने तेल के दाम केवल इसी साल 14 परसेंट बढ़ाए हैं..अपने पेट्रोल पंप पर जाईये और चेक करिए तो आज भी आप पाएंगे कि 25 पैसे तक दाम बढ़ गए.. केवल 2021 की बात कर रही हूं..2021 में तेल की कीमतें 50 बार बढ़ाई गई हैं..इस 50 बार में पेट्रोल करीब 13 रूपए महंगा हुआ है..डीजल भी इस साल साढ़े 13 रूपए महंगा हुआ है..

डिस्क्लेमर- लेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. भाषा में व्यंग्य है. लेखक का मक्सद किसी पार्टी किसी व्यक्ति किसी सरकार किसी धर्म जाति किसी मानव किसी जीव या फिर किसी संवैधानिक पद का अपमान करना या उनके सम्मान को छति पहुंचाने का नहीं है.. इसलिए व्य्ग्य को व्यंग्य की तरह लें..लेख में सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. भाषा में स्थानीय या यूपी की रीजनल भाषा को सरल करके प्रस्तुत किया गया है. समझाने के लिए बात घुमाकर कही गई है.

22 thoughts on “राष्ट्रवादी चटनी चाटते रहिए..अपनी जेब कटाते रहिए..अंधभक्ति का गीत गाते रहिए : संपादकीय व्यंग्य

  • June 16, 2021 at 5:39 pm
    Permalink

    सही बात दीदी। अच्छा लिखा आपने।
    लेकिन भक्ति में अंधे भक्तो को कौन समझाए। महंगाई उनकी नजरों में देश को ऊंचाइयों पर ले जायेगी। उनका मान न है ऐसा। गलत को गलत बोलने की हिम्मत न रखते वो।

    Reply
    • June 16, 2021 at 6:10 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर अपनी बात रखी इसके लिए हम आपके आभारी हैं..हम चाहते हैं कि आप हमारे नियमित पाठक बनें..

      Reply
      • June 16, 2021 at 6:31 pm
        Permalink

        શુ લાખ ટકા ની વાત કહિ છે..☺

        Reply
        • June 18, 2021 at 1:55 pm
          Permalink

          आजकल देश भक्ति की परिभाषा ही बदल गई है मैडम जी जो सरकार के साथ खड़ा है वो देशभक्त कहलाता है जो सरकार की कमियां बता दे तो वो देशविरोधी हो जाता है फेक न्यूज का भी कुछ ऐसा ही है जो इनके लिए फायदा पहुंचाए सब सच है और जिससे इनकी इमेज खराब हो जनता के सामने वो फेक होता है आप हमेशा ही एक सच्ची पत्रकार की तरह रिपोर्ट करती हो आप अपना ध्यान रखो और ऐसे ही रिर्पोट करती रहे 🙏👍

          Reply
      • June 17, 2021 at 4:23 pm
        Permalink

        बीजेपी के खिलाफ विरोधाभासी लेख मत लिखो नहीं तो राष्ट्रिविरोधी और आतंकवादी घोषित हो जाएगी ।

        Reply
    • June 18, 2021 at 10:03 am
      Permalink

      Yes ma’am apne sahi kaha

      Reply
  • June 16, 2021 at 11:21 pm
    Permalink

    मैं महाराष्ट्र का हू लेकिन मैं आप के जो news होते हैं ओ सब देखता हू आप कि सच्ची पत्रकारीता हैं आपको बहुत सारा प्यार और हम सब आप के साथ हैं
    जय हिंद…!
    🙏🙏🙏

    Reply
    • June 17, 2021 at 12:12 am
      Permalink

      आप हमारे वीडियो देखते हैं इसके लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद यशपाल जी

      Reply
  • June 17, 2021 at 6:05 am
    Permalink

    जेल जब जाएंगे तब आप क्या करोगे।
    यहां तो सच्चाई बताने वाले को जेल भेजा जाता है।
    जैसे कि पप्पू यादव को।
    कितना जनता अभी पप्पू यादव को साथ दे रही है।
    युटुब पर तो सब साथ रहते हैं पर सही में कोई नहीं।
    धन्यवाद

    Reply
    • June 18, 2021 at 1:35 pm
      Permalink

      अजय जी..जब सिर ओखली में दिया है तो मूसलों से क्या डरना

      Reply
  • June 17, 2021 at 8:02 am
    Permalink

    Andhbhkto ki achi bjai h apne 😊 nice mam

    Reply
  • June 17, 2021 at 12:55 pm
    Permalink

    Pahle Hum Aapke Fan The …
    But Ab Lagta hai Aapke Khabron ko Samajwadi Chaska Lga hai…
    Khair koi nahi ….
    Continue…
    Ab Bhi apka bolne ka andaz hume accha lgta hai…
    Love U Sister.. 😊

    Reply
    • June 18, 2021 at 1:34 pm
      Permalink

      रोशन जी..सरकारों से सवाल पूछना..उन तक लोगों की आवाज पहुंचाना..मेरा काम है..सरकार जितनी आपकी है उतनी ही मेरी है..अगर कभी समाजवादियों की सरकाई आई तो..उनकी सरकार से भी सवाल ऐसे ही पूछूंगी..जो आपके काम कर सकता है उनको ही सही काम करने की सलाह दी जा सकती है..आपकी राय के लिए शुक्रिया..कुछ मुझे कांग्रेसी कहते हैं कुछ सपाई..कुछ बसपाई..लेकिन मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता..

      Reply
  • June 17, 2021 at 6:29 pm
    Permalink

    ऐक ऐक शब्द सुनने वाला। ऐसे ही लिखते रहिए, धन्यवाद।

    Reply
  • June 17, 2021 at 11:36 pm
    Permalink

    Meri samajh nhi aata bade bade chanal sarkar ki god me baithe hain..desh aur samajh ko gumarah kar rahein hain…iske bad bhi aap itni bebaaki se aur sachhayi se patrkarita kartin hain…apke jigar aur haunsale ko lakh lakh salaam karta hoo…

    Reply
  • June 18, 2021 at 10:01 am
    Permalink

    प्रज्ञा जी सरसो का तेल जो आप और हमसभी डब्बा, पैकिंग खाद्य तेल जो भी खाते है वो सभी pam oil
    होता है, रही बात खाद्य तेल की बढ़ती कीमत की तो आप तो पत्रकार है आपको पता तो होनी चाहिए की pam oil की सबसे ज्यादा निर्यात मलेशिया करता है, और हमारा देश सबसे ज्यादा आयात करता है और पिछले साल से ही मलेशिया से आयात बंद है।
    ये कारण है खाद्य तेल की बढ़ती कीमत की और
    रही बात पेट्रोल डीजल की तो मुझे लगता है की भारत सरकार की ये पहल अच्छी है,, क्योंकि पेट्रोल डीजल से चलने वाली मशीनें प्रदूषण ज्यादा करती है
    भारत सरकार की पहल ये है इलेक्ट्रिक वाहन ज्यादा से ज्यादा चले जिससे की हमारे देश का पैसा खर्च ज्यादा ना हो ,,,
    ना अंदभक्त् ना ही चमचा केवल
    देशभक्त

    Reply
    • June 19, 2021 at 6:53 pm
      Permalink

      आपकी अमूल्य राय के लिए शुक्रिया

      Reply
  • June 19, 2021 at 7:10 pm
    Permalink

    Mai hamesha apke sath hu congress ho ya bjp galat ko galat kehne ki jo himmat aap dikhate hain uske liye mai apka bahut bahut abhari hu

    Reply
    • June 21, 2021 at 12:51 pm
      Permalink

      आपने समय निकालकर अपने विचार व्यक्त किए इसके लिए धन्यवाद..हम चाहते हैं आप हमारे नियमित पाठक बने..वेबसाइट का नोटिफिकेशन ok करें..

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *