लॉकडाउन उल्लंघन में पप्पू यादव गिरफ्तार, बोले- कोरोना संक्रमित कर मरवाना चाहते हैं नीतीश

बिहार के पूर्व सांसद और जन अधिकारी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव को पटना में मंदिरी स्थित उनके आवास से गिरफ्तार कर लिया गया है. पप्पू पीएमसीएच के कोविड वार्ड में गए थे.

पप्पू यादव पर लगे ये आरोप

पप्पू यादव पर लॉकडाउन के उल्लंघन का आरोप है. उनकी गिरफ्तारी की खबर सुनकर उनके आवास पर समर्थकों की भीड़ जमा होने लगी है. पुलिस के मुताबिक उन पर बगैर अनुमति के घूमने, सरकारी कार्य में बाधा डालने और लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने का आरोप है. दरअसल पप्पू यादव ने सारण पहुंच कर अमनौर के जयप्रभा सामुदायिक केंद्र पर 30 से अधिक एंबुलेंस रखने का मामला उठाया था. ये एंबुलेंस राजीव प्रताप रूडी के सांसद मद से खरीदी गई थी. इसके बाद जब इस पर बवाल मचा तो अमनौर के जयप्रभा सामुदायिक केन्द्र के केयर टेकर और गार्ड ने पप्पू यादव और उनके अंगरक्षक पर मारपीट कर कंधे पर लाठी से वार करने, तोड़फोड़ और हंगामा करने का आरोप लगाया है. पप्पू यादव ने अपनी गिरफ्तारी की जानकारी खुद ट्वीट करके दी है.

बेईमानों को बेनकाब करता रहूंगा

ट्वीट में उन्होंने लिखा कि मुझे गिरफ्तार कर पटना के गांधी मैदान थाने लाया गया है. इसके बाद दूसरे ट्वीट में लिखा कि कोरोना काल में जिंदगियां बचाने के लिए अपनी जान हथेली पर रख जूझना अपराध है, तो हां मैं अपराधी हूं। PM साहब, CM साहब, दे दो फांसी, या, भेज दो जेल, झुकूंगा नहीं, रुकूंगा नहीं। लोगों को बचाऊंगा। बेईमानों को बेनकाब करता रहूंगा!

-----

पॉजिटिव कर मारना चाहती है सरकार

पप्पू यादव ने राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए लिखा कि नीतीश जी, प्रणाम. धैर्य की परीक्षा न लें. अन्यथा जनता अपने हाथों में व्यवस्था लेगी,तो आपका प्रशासन सारा लॉकडाउन प्रोटोकॉल भूल जाएगा. मेरा एक माह पहले ऑपेरशन हुआ है। तब भी अपना जीवन दांव पर लगा जिंदगियां बचा रहे हैं। अभी मेरा टेस्ट हुआ, कोरोना निगेटिव आया। आप पॉजिटिव कर मारना चाहते हैं.

-----

उन्होंने आगे लिखा कि सरकारों को कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने की तैयारी करनी चाहिए तो पप्पू यादव से लड़ रहे हैं. पूरे बिहार में मामला खोज रहे हैं, कैसे फंसाकर अपनी नाकामी छुपाएं.

पप्पू यादव की गिरफ्तारी पर उठे विरोध के स्वर

पप्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद सिर्फ नीतीश सरकार के विरोधी ही नहीं बल्कि उनके साथी भी इस मसले पर पप्पू यादव का समर्थन करते हुए नज़र आ रहे हैं. राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने नीतीश कुमार की तुलना हिटलर से की और कहा कि यहां सरकार के खिलाफ उठने वाला आवाज को दबाने की कोशिश की जाती है. नीतीश कुमार के मंत्री मुकेश सहनी ने कहा कि जनता की सेवा करना ही नेता का धर्म होता है. ऐसे समय में पप्पू यादव की गिरफ्तारी असंवेदनशील है.

जीतनराम मांझी ने अपनी ही सरकार को घेरा और कहा कि कोई जनप्रतिनिधि अगर जनता की सेवा करे और उसके बदले में उसे गिरफ्तार किया जाए तो वो मानवता के लिए खतरनाक है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *