लखनऊ में आज से नाइट कर्फ्यू, हालात गंभीर, KGMU के 38 डॉक्टर संक्रमित

उत्तर प्रदेश में कोरोना बेकाबू होता जा रहा है. लगातार मरीज बढ़ते ही जा रहे हैं. चौकाने वाली खबर राजधानी लखनऊ से है. किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU) के कुलपति समेत 38 डॉक्टर और 3 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना से संक्रमित मिले हैं. जबकि सभी को वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी थीं.

night curfew in lucknow from 8 april

रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू

-----

संक्रमण को देखते हुए आज यानी गुरुवार से नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है जो 16 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा. इस आदेश के बाद रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक लोगों को घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी. वहीं, जिले के सभी सरकारी व गैर सरकारी शिक्षण संस्थानों को 15 अप्रैल तक के लिए बंद कर दिया गया है. इस दौरान सभी चिकित्सा, नर्सिंग व पैरा मेडिकल संस्थान खुले रहेंगे. मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्थानों में कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए परीक्षाएं आयोजित की जा सकेंगी. इसके साथ ही मुख्‍यमंत्री ने बैठक में कहा कि भीड़ वाली जगह चिन्हित करें, वहां सख्‍ती करिये, चालान करिए न सुधरें तो सील कर दीजिए.

night curfew in lucknow from 8 april

अंतिम संस्कार के लिए घंटों इंतज़ार

बीते 24 घंटे में 6024 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए और 40 लोगों की मौतें हुई हैं. यूपी में दो दिन में ही करीब 12000 केस सामने आ चुके हैं. लखनऊ में कोरोना के 1333 नए केस मिले और 6 मौतें हुई हैं. लखनऊ में हालात इतने बिगड़ गए हैं कि यहां बैकुण्ठ धाम विद्युत शवदाह गृह में अंतिम संस्कार के लिए लोगों को टोकन बांटे गए. अंतिम संस्कार के लिए लोगों को आठ से 12 घंटे तक इंतजार करना पड़ा.

मरीजों को नहीं ले रहे एडमिट

लखनऊ में CMO से हालात बिल्कुल भी नही संभल रहे है. 20-20 घंटो तक मरीजों को एडमिट नहीं किया जा पा रहा है. हालात इतने खराब है कोविड पॉजिटिव होने के बाद मरीजों को कॉल आ रही लेकिन 20 घंटे के बाद एम्बुलेंस पहुंच रही हैं. यूपी में अब तक कुल 8964 संक्रमितों की मौत हो चुकी है. बेहद चिंताजनक बात ये है कि देश में एक दिन में 1.15 लाख नए संक्रमित मिले हैं. बतादें कि देश में अब तक करीब 1.28 करोड़ लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं. इनमें से करीब 1.18 करोड़ ठीक हुए हैं और 1.66 लाख ने जान गंवाई है.

कंटेनमेंट जोन की गाइडलाइन

योगी सरकार ने कोरोना की नई गाइडलाइन भी जारी की है जिसमें कहा है कि प्रत्येक कोविड पॉजिटिव मामले को केंद्र मानते हुए 25 मीटर रेडियस के क्षेत्र को और एक से अधिक मामले के लिए 50 मीटर के रेडियस के क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बनाया जाए. मतलब कि कोरोना का एक मरीज मिलने पर 20 मकानों के पूरे इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाएगा. साथ ही कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने पर 60 मकानों के इलाके को सील करने का काम किया जाएगा. इसी के साथ अब सार्वजनिक कार्यक्रम में भी 100 से ज्यादा लोगों के शामिल होने पर रोक लग गई है.

ये भी पढ़ें-

यूपी में सख्त नियमों के साथ कोरोना की नई गाइडलाइन जारी, एक चूक और आप कंटेनमेंट जोन के अंदर

चेतावनी! मोटरसाइकिल पर बच्चों को बैठाया तो देना होगा भारी जुर्माना, पढ़ें नए ट्रैफिक नियम-

देश में खतरनाक हो रहा कोरोना, केंद्र ने दी चेतावनी- लापरवाही छोड़कर ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत