Prophet Muhammad के अपमान की भारत ने भारी कीमत चुकाई..

PRAGYA KA PANNA
PRAGYA KA PANNA

बताईए जो देश भारत की एकता सहिसुणता का गाना गाते नहीं थकते थे..उन मुस्लिम देशों ने भारतीय राजदूतों को तलब कर लिया..जो देश भारत के सपोर्ट में हमेशा खड़े हैं..उन देशों ने भारत के बने प्रोडक्ट का बहिष्कार करना शुरू कर दिया..बीजेपी के दो प्रवक्ताओं की मूर्खता के कारण खाड़ी के देश भारत (India Paid a heavy Price for insulting Prophet Muhmmad) के खिलाफ एक के बाद एक खड़े होते ही जा रहे हैं..

अब तक ईरान, इराक, कुवैत, कतर, सऊदी अरब, ओमान, ईरान, यूएई, जॉर्डन, अफगानिस्तान, बहरीन, मालदीव, लीबिया और इंडोनेशिया सहित कम से कम 15 देशों ने पैगम्बर मोहम्मद (India Paid a heavy Price for insulting Prophet Muhmmad) पर की गई बीजेपी प्रवक्ताओं की अभद्र अनैतिक भौंदी भद्दी और बेढंगी टिप्पणी को लेकर भारत के खिलाफ आधिकारिक विरोध दर्ज करा चुके हैं..भारत भी आधिकारिक तौर पर सबको समझा रहा है कि बीजेपी के वो प्रवक्ता शरारती तत्व थे..

सारी गल्फ कंट्रीज भारत को आंख दिखा रही हैं..भारत की सरकार ने क्या किया है.. भारत की सरकार ने कुछ नहीं किया है सिवा अपॉलिजी दर्शाने के आंख में आंखडालकर बात करने वाले भारत को दो मूर्खों की वजह से सफाई देनी पड़ रही है..सारा किया धरा सारी आग लगाई हुई बीजेपी की है..और इसकी कीमत हमारे महान देश भारत को चुकानी पड़ रही है..मैं गलत कह रही हूं तो बताईयेगा.

हर देश भारत की निंदा कर रहा है..कितनों को समझाया जाए कि भारत सरकार और बीजेपी अलग अलग हैं..सबको मालूम है भारत में बीजेपी की सरकार है..और बीजेपी के प्रवक्ता मुस्लिमों के ईष्ट के खिलाफ टीवी पर बैठकर..बतौर भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता जहर उगल रहे थे..

हम समवेत नाम की वेबसाइट के मुताबिक खाड़ी देशों की नाराजगी के बाद बीजेपी ने 27 चुने हुए नेताओं को अपनी जुबान पर लगाना लगाने की हिदायत दी है…बताया जा रहा है कि इन नेताओं के पिछले 8 साल (India Paid a heavy Price for insulting Prophet Muhmmad) में यानी 2014 से मई 2022 तक के रिकॉर्ड को IT विशेषज्ञों की मदद से देखा गया..तो पाया गया कि करीब 5,200 बयान गैर-जरूरी थे.. 2,700 बयानों के शब्दों को संवेदनशील पाया गया..27 नेताओं के बयानों को धार्मिक मान्यताओं को आहत करने वाली कैटेगरी में रखा गया है..

दोस्तों बीजेपी ने अपनी राष्ट्रीय प्रवक्ता को पार्टी (India Paid a heavy Price for insulting Prophet Muhmmad) से हटा दिया है..लेकिन मांग नूपुर शर्मा की गिरफ्तारी की चल रही है..दोस्तों हम पाकिस्तान नहीं हैं.या फिर हम दूसरे कोई कट्टर देश नहीं हैं..हम दुनिया के अकेले एकलौते ऐसे देश हैं..जहां बोली भाषा यहां तक कि पेड़ पौधों नदियों और हवाओं का सम्मान किया जाता है..तो फिर एक वर्ग के लिए नफरती सोच क्यों..हम कट्टर क्यों बनना चाहते हैं..भारत देश की ताकत उसकी विविधता में एकता से है..यही भारत को दुनिया में सबसे अलग और अनोखा बनाता है..

दुनिया के 99 प्रतिशत देश कट्टरता को फॉलो करते हैं..कहीं काले गोरे का झगड़ा है..कहीं इसाई नॉन इसाई का झगड़ा है कहीं..यहूदियों का झगड़ा है..लेकिन भारत देश के संविधन ने स्वंय भारत देश के भीतर सभी धर्मों को स्वतंत्रता से जीने अपने धर्म को मानने पूजा पाठ करने..की इजाजत दी है..सबको बराबरी का अधिकार दिया है..तो फिर अलगाव (India Paid a heavy Price for insulting Prophet Muhmmad) और कट्टरता की बात क्यों..भारत के खिलाफ खड़े होने वाले के लिए वैसे भी भारत के कानून के मुताबिक भारत में कोई जगह नहीं है..भारत में मसले कानून से सुलझते हैं..तो फिर डिबेटों में बैठकर भगवानों को गाली देने से क्या फायदा..कोई भी देश धर्म पर चर्चा करके धर्म पर डिबेट करके आगे नहीं बढ़ा..

डिबेट टेक्नॉलिजी पर करिए..डिबेट विकास पर करिए..डिबेट परफॉर्मेंस पर करिए..डिबेट तरक्की पर करिए..लेकिन ये बहुत दुखद है कि भारत में टीवियों पर धर्म के नाम पर मुर्गे लड़ाए जाते हैं..भारतीय मीडिया (India Paid a heavy Price for insulting Prophet Muhmmad) के इसी मुर्गा युद्ध का परिणाम आंतरराष्ट्रीय स्तर पर हमारे भारत देश को भुगतना पड़ रहा है..मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से मांग करती हूं कि विवादित धार्मिक न्यूज कवरेज और उस पर होने वाली डिबेट्स पर पाबंदी लगाई जाए..इससे आधी नफरत अपनेआप खत्म हो जाएगी..

Disclamer- उपर्योक्त लेख लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार द्वारा लिखा गया है. लेख में सुचनाओं के साथ उनके निजी विचारों का भी मिश्रण है. सूचना वरिष्ठ पत्रकार के द्वारा लिखी गई है. जिसको ज्यों का त्यों प्रस्तुत किया गया है. लेक में विचार और विचारधारा लेखक की अपनी है. लेख का मक्सद किसी व्यक्ति धर्म जाति संप्रदाय या दल को ठेस पहुंचाने का नहीं है. लेख में प्रस्तुत राय और नजरिया लेखक का अपना है.