बच्चों के साथ बस से गांव चले अखिलेश, बस ड्राइवर हैरान-परेशान

दोस्तों समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश की खटारा रोडवेज की बस में बैठकर अपने घर गए..

अखिलेश यादव जनता का दर्द समझने का कोई मौका नहीं चूकते..इसीलिए कभी बस में बैठ जाते हैं कभी ढाबे पर दूध पीने उतर पड़ते हैं कभी चाय पीने और कभी सब्जी और फल खरीदने इस बार बस में बैठने का सीन कुछ ऐसे बना कि अखिलेश यादव अपने गांव इटावा जा रहे थे..रास्ते में बस जाती हुई देखी अखिलेश अपनी गाड़ी से अपने बच्चों के साथ उतर पड़े और बच्चों से कहा तुम लोग राजपरिवार के बच्चे मत बनों आम लोगों को तरह आम सवारी करना भी सीखो जनता के बीच रहोगे तो जनता के दुख दर्द समझ में आएंगे..

-----

अखिलेश यादव ने अपने बच्चों को अपनी गाड़ी से उतारकर बस में बिठाया और एक्स्प्रेस वे से अपने घर की तरफ निकल पड़े..अखिलेश यादव जैसे ही बस में चढ़े बस में बैठे लोग देखते ही रह गए..लोगों को लगा कि अखिलेश बस का निरीक्षण करने के लिए चढ़े हैं फोटो खिचाकर चले जाएंगे लेकिन जब बस चल पड़ी तो लोगों को यकीन हुआ कि अखिलेश उन्ही की तरह मुसाफिर बनकर बस में चढ़े हैं..अखिलेश ने बस में बैठे लोगों से खूब बातचीत की..उनसे जाना कि वो बसों में अभी और क्या सुविधाएं लोग चाहते हैं..अखिलेश यादव ने वादा किया जब 2022 में समाजवादी सरकार आ जाएगी तो बसों की हालत सुधारी जाएगी..

अखिलेश यादव ने कहा कि जितनी अच्छी हमने सड़क बनाई है.. उतनी ही अच्छी बसों पर जनता का पूरा हक़ है, यही सोचकर हमने दुनिया की सबसे अच्छी बसें चलाने का निर्णय लिया था.. 2022 में आकर हम यूपी रोडवेज़ में हर जगह वर्ल्ड क्लास बस चलवाएंगे..