‘5G टेस्टिंग’ ले रहा है लोगों की जान..प्रूफ के साथ रिसर्च रिपोर्ट : संपादकीय व्यंग्य

हिंदुस्तान में लोग तड़प तड़प कर मर रहे हैं उनके लिए 5 जी टेस्टिंग ही पूरी तरह से जिम्मेदार है..जो लोग अपको ये बता रहे हैं कि हिंदुस्तान में 5 जी टेस्टिंग की वजह से लोगों के मरने की खबरें अफवाह हैं..वो लोग आपसे झूठ बोल रहे हैं..वो आपके साथ धोखा कर रहे हैं..आपसे असत्य कह रहे हैं..लोग 5 जी टेस्टिंग की वजह से ही मर रहे हैं..मैं प्रूफ कर सकती हूं..5 जी किस तरह से जिम्मेदार है उसका एक एक कारण बता सकती हूं…

मैं पहले दिन से कह रही थी कोरोना फैल सकता है..टेस्टिंग रोकिए लेकिन किसी ने मेरी नहीं सुनी..ना पहले जी..मोदी जी ने सुनी..ना दूसरे जी शाह जी ने सुनी..ना तीसरे जी स्वास्थ्य मंत्री हार्षवर्धन जी ने सुनी..ना चौथी जी मतता जी ने सुनी..और ना पांचवे जी चुनाव आयोग ने सुनी…सब टेस्टिंग में लगे रहे..पहले माईक टेस्ट होता..फिर भीड़ टेस्ट होती..उसके बाद लोगों को भाषण टेस्ट कराया जाता..

हिंदुस्तान के इन 5 जी लोगों ने लोगों को भर भरकर कोरोना बांटा है..अब लोग रोबोट 2.0 फिल्म के चील कौओं की तरह तड़प तड़प कर मर रहे हैं.. मोदी जी शाह जी ममता जी सबका बंगाल में टेस्ट था..और सब जनता के बीच अपने अपने करंट की टेस्टिंग कर रहे थे..जनता में कोरोना का रेडिएशन दौड़ रहा था..5जी की ये टेस्टिंग जिंदगी और मौत के सवाल से आगे गुजर चुकी थी..बंगाल का कोरोना मीटर बंद कर दिया गया था…वोटिंग के बाद टेस्टिग खत्म हुई तो पता चला इंफेक्शन फैल चुका है..लोग ऑक्सीजन सिलेंडर बेड अस्पताल और दवाई के लिए तड़पने लगे थे..

-----
                     ये मैडम टावर वाले 5जी को बेकार दोष दे रही हैं..5 जी रेडिएशन से कोई नहीं मर रहा है..दोस्तों देश में मंच वाले भाषणजीवी 5 जी लोगों की वजह से कोरोना फैला है..टावर वाला 5 जी फर्जी बदनाम है..दोस्तों हम अभी 4 जी पर ही अटके हुए हैं..दुनिया में पहले ही कई देशों में 5जी नेटवर्क शुरू हो चुके हैं..और लोग सुरक्षा के साथ इन सेवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं..कोई नहीं मर रहा..5 जी टेस्टिंग से..कोई रेडिएशन नहीं हो रहा है..यहां तक कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भी साफ किया है कि 5जी तकनीक और कोविड-19 के बीच कोई लेना-देना नहीं है..

आम मेरी मान लीजिए..और जो लोग ये कह रहे हैं नाईट कर्फ्यू इसलिए लगाया गया था..क्योंकि रात में टेस्टिंग चल रही थी..उनसे कहिए निहायत बेवकूफ लोगों ने अपनी नाकामी छिपाने के लिए नाईट कर्फ्यू लगाया था..उसका टावर वाले 5 जी से कोई लेना देना नहीं था..अब उनको बताईये..मंच वाले 5 जी लोगों की कृपा से देश में लॉकडाउन लग चुका है..दिन रात बराबर घर में रहिए..अब इसका ये मतलब ना निकाल लेना कि दिन रात 5 जी की टेस्टिंग चल रही है..चलते हैं राम राम दुआ सलाम.. जय हिंद..

-----
ये भी पढ़िए- मोदी जी का सेंट्रल विस्टा और 24 बीघे का महल : संपादकीय

DISCLAMER- लेख में प्रस्तुत तथ्य/विचार लेखक के अपने हैं. किसी तथ्य के लिए ULTA CHASMA UC उत्तरदायी नहीं है. लेखक एक रिपोर्टर हैं. लेख में अपने समाजिक अनुभव से सीखे गए व्यहवार और लोक भाषा का इस्तेमाल किया है. लेखक का मक्सद किसी व्यक्ति समाज धर्म या सरकार की धवि को धूमिल करना नहीं है. लेख के माध्यम से समाज में सुधार और पारदर्शिता लाना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *