योगी के जन्मदिन पर यूपी के नौजवानों ने बेरोजगार दिवस मनाया : व्यंग्य

योगी के जन्मदिन पर मना बेरोजगार दिवस
योगी के जन्मदिन पर मना बेरोजगार दिवस

दोस्तों उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन को उत्तर प्रदेश में नौकरी के इंतजार में बैठे जवान लड़के लड़कियों ने बेरोजगार दिवस के तौर पर मनाया…अपने ही मुख्यमंत्री को हैप्पी बर्थडे बोलने के बजाए..अपने ही मुख्यमंत्री के जन्मदिन को बेरोजगार दिवस नाम दे देना..छोटी बात नहीं है..

जिन बेरोजगारों के पीछे कोई संगठन नहीं है..जिन बेरोजगार युवाओं का कोई राजनीतिक दल नहीं है..कोई सपोर्ट नहीं है..वो युवा अपने मुख्यमंत्री के जन्मदिन पर खुश होने के बजाए..अपने ही मुख्यमंत्री को ट्रोल कर रहे हैं..और मुख्यमंत्री कोई ढंग का जवाब तक नहीं दे पा रहे हैं.. इसका मतलब है कि यूपी में काम तलाश रही नौजवान पीढ़ी अपने मुख्यमंत्री से संतुष्ट नहीं है..

दोस्तों योगी आदित्यानाथ के जन्मदिन पर मैंने तो उनको हैप्पी बर्थडे बोला है..जैसे भी हों हमारे मुख्यमंत्री हैं..मुख्यमंत्री ने मेरी बधाई का कोई उत्तर नहीं दिया है..चलिए मैंने तो मुख्यमंत्री योगी को ट्विटर पर बधाई दी है लेकिन यूपी के बेरोजगारों की तरह हिंदुत्ववादी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बनाने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी..और अमितशाह ने भी इस बार ट्विटर पर सार्वजनिक बधाई नहीं दी…

-----

कुछ लोग कह रहे हैं..मोदी जी और शाह जी योगी जी से नाराज हैं..जानकारी पुष्ट नहीं है लेकिन कहते हैं कि ऊपर वालों पर योगी जी को हटाने का प्रेशर है..लेकिन योगी जी हटना नहीं चाहते..इसीलिए गाल फुलाई फुलावा की रस्में चल रही हैं..

-----

एक तरफ जहां से बधाई आनी चाहिए थी..वहां से बधाई आई नहीं..दूसरी तरफ योगी जी के अपने प्रदेश के लोग योगी जी का जन्मदिन बेरोजगार दिवस के तौर पर मना डाला..राजनीति में ये साईन ठीक नहीं है..जनता नाराज हो तो चलता है लेकिन सामान्य जीवन में भी जब अपनों की तरफ से बधाई न आए तो नाराजगी दिखाता है..

ट्विटर पर बहुत से लोगों ने जन्मदिन पर बधाई ना मिलने पर सवाल पूछे..किसी ने मोदी जी की पुराने बधाई स्नैप शेयर करके पूछा कि अब तक तो सुबह सुबह ही बधाई आ जाती थी लेकिन इस बार अब तक नहीं आई..किसी ने कुछ और अंदाजे लगाए..

दोस्तों बहुत बुरा लगता है जब कोई आपके जन्मदिन पर आपकी वजह से दुखी होता है..हमारी परंपरा में तो हम लोग अपने अपने जन्मदिनों पर..अनाथ बच्चों की इच्छा पूरी करने के लिए अनाथ अश्रमों में अपनी हैसियत के मुताबिक दान पुण्य करने के लिए जाते हैं लेकिन मुख्यमंत्री की अपनी खुद की प्रजा जन्मदिन पर नौकरी मांग रही थी..लेकिन नौकरी तो क्या मुख्यमंत्री आश्वास तक नहीं दे पाए..बेरोजगार दिवस मनाने वाले लड़कों ने मुखयमंत्री का एक वीडियो शेयर किया है सुन लीजिए..

केवल यही वीडियो नहीं..सैकड़ों मीम शेयर करके अपना विरोध दर्ज किया..किसी ने थ्री ईडियट का मीम बनाया किसी ने नाराजगी का दूसरा तरीका अपनाया..दोस्तों आप क्या सोचते हैं कमेंट करके जरूर बताईये..

डिस्क्लेमर- लेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. भाषा में व्यंग्य है. लेखक का मक्सद किसी पार्टी किसी व्यक्ति किसी सरकार किसी धर्म जाति किसी मानव किसी जीव या फिर किसी संवैधानिक पद का अपमान करना या उनके सम्मान को छति पहुंचाने का नहीं है.. इसलिए व्य्ग्य को व्यंग्य की तरह लें..लेख में सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. भाषा में स्थानीय या यूपी की रीजनल भाषा को सरल करके प्रस्तुत किया गया है. समझाने के लिए बात घुमाकर कही गई है.

-----

2 thoughts on “योगी के जन्मदिन पर यूपी के नौजवानों ने बेरोजगार दिवस मनाया : व्यंग्य

  • June 7, 2021 at 2:30 am
    Permalink

    प्रज्ञा दीदी को राम राम दुआ सलाम
    दीदी आपसे एक विनती है की उत्तर प्रदेश में पैरामेडिकल विभाग के अंतर्गत आने वाली कार्डियोलॉजी टेक्नीशियन ,ईसीजी टीएमटी टेक्नीशियन की परमानेंट वेकेंसी विगत कई वर्षों से नही आई है जबकि केजीएमयू मे इस कोर्स की पढ़ाई निरंतर चल रही ,दीदी मध्य प्रदेश राजस्थान अरुणाचल प्रदेश में वहा के वासियों के लिए कार्डियोलॉजी टेक्नीशियन की कई बार परमानेंट वेकेंसी खुल चुकी है बस उत्तर प्रदेश में ही 5 साल से एक स्थाई पद नही खुला योगी राज में
    बस अगर कोरोना काल में ईसीजी टेक्नीशियन के एक दो पद खोले भी गए तो वो आउटसोर्सिंग के द्वारा खोले गए जो की ना संविदा है ना ही परमानेंट वेकेंसी
    आपका वीडियो मैं विगत कई वर्षों से देख रहा हु जब आप कटिंग चाय पर आती थी आज भी निरंतर आपके हर वीडियो को देखता हु क्युकी उसमे कड़वी सच्चाई होती है जो बिकाऊ मीडिया नही दिखाती

    दीदी आप एक बार इस पर अपने वीडियो के माध्यम से प्रकाश डालने की कोशिश करिए जिस से पैरामेडिकल विभाग की कार्डियोलॉजी ईसीजी टेक्नीशियन की वेकेंसी खुल सके
    धन्यवाद दीदी राम राम दुआ सलाम 🙏🙏

    Reply
  • June 7, 2021 at 10:10 am
    Permalink

    12460 प्राथमिक शिक्षक भर्ती 2016 में आयी फिर सरकार बदली और योगी सरकार समीछा के नाम पर‌रोक लगाई फिर 2018 में 7040 लोगो क़ो नौकरी मिली बाकी सब अभ्यर्थी आज तक रोड़ पर है कोर्ट में करोड़ो रू लगा दिये फिर भी सरकार आज तक कुछ नही की…

    ऐसा व्यवहार योग्य नौजवानों के साथ क्यों हो रहा है।

    UPSSSC का वही हाल है 4 साल मे एक रिजल्ट जारी होता है भर्ती के नाम पर बस छलावा ह़ो‌ रहा है कोई कुछ ना सुन रहा ना बोल रहा है।

    माध्यमिक में लाखो सीट खाली है शिक्षको की उसपर सरकार का कोई ध्यान नहीं है आखिर क्य़ों…?

    लेखपाल,कानूनग़ो,क्लर्क सारे विभागों मे लाखो पद खाली है क्यों नही भरे जा रहे है।

    इनसब बातो को एक बार प्रज्ञा मैम आप एक बार जरूर इस मुद्दे को रखे सबके सामने…🙏🙏

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *