शिवपाल पर फिर मेहरबान हुए योगी, बंगले के बाद दी ‘जेड प्लस’ सुरक्षा

विपक्षी पार्टियों को तोड़ने के लिए बीजेपी ने भी पूरा जोर लगा रखा है. शुक्रवार को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सपा को छोड़ अपनी नई पार्टी बना चुके समाजवादी सेकुलर मोर्चा के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव को मायावती का खाली किया हुआ बंगला आवंटित किया था. जिसके बाद राजनीतिक गलियारे में इसके कई मायने निकाले जा रहे हैं. वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शिवपाल पर मेहरबान होते हुए एक और बड़ा फैसला कर दिया है.

योगी आदित्यनाथ ने दी जेड प्लस सुरक्षा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिवपाल सिंह यादव को जेड प्लस सुरक्षा देने के लिए मंजूरी दे दी है. शिवपाल से पहले उत्तर प्रदेश में सिर्फ 3 लोगों के पास ही जेड प्लस सुरक्षा है. पहला समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव, दूसरा अखिलेश के पिता मुलायम सिंह यादव और तीसरा बसपा सुप्रीम मायावती के पास जेड प्लस सुरक्षा है. शिवपाल को बंगले के बाद अब जेड प्लस सुरक्षा देने से विपक्षी पार्टियों में और खलबली मच गई है. मायावती का बंगला काफी बड़ा है इसमें मायावती ने अपना ऑफिस खोल रखा था. शिवपाल के करीबी सूत्रों के मुताबिक वो भी इस बंगले में अपना ऑफिस ही बनाएंगे. सूत्रों ने ये भी बताया की शिवपाल जल्द ही बंगले में प्रवेश करेंगे, इसकी तैयारियां जोरों से चल रही है.

केशव प्रसाद मौर्य कर चुके हैं ऐलान 

बंगला मिलने के बाद शिवपाल यादव ने कहा था की मैं पांच बार विधायक और एक पूर्व मंत्री रहा हूं, पार्टी बनाने के बाद मैंने एक बड़े स्थान की मांग की थी. इसके बाद सभी नियमों को पूरा करते हुए सरकार द्वारा यह नया घर मुझे आवंटित किया गया. आने वाले चुनाव को देखते हुए कई लोगों ने योगी सरकार के इस फैसले को राजनीतिक दांव समझ लिया है. पहले भी उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह साफ़ कह चुके हैं की अगर शिवपाल चाहें तो बीजेपी में विलय कर सकते हैं. बीजेपी को इसमें कोई परेशनी नहीं है.

-----