दो लाख युवाओं को नौकरियां देगी योगी सरकार, खास ब्लूप्रिंट तैयार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बृहस्पतिवार को मीडियाकर्मियों से बातचीत में कई बड़े ऐलान किये हैं और सरकार की प्राथमिकताओं को बताया है. जिसमें उन्होंने नौकरी देने के भी संकेत दिए हैं.

yogi adityanath says government jobs will come soon in up
yogi adityanath says government jobs will come soon in up

सीएम योगी ने कहा कि सरकार रणनीति के तहत प्रदेश के लोगों की प्रति व्यक्ति आय बढ़ाने के लिए काम कर रही है. लोगों की आय और क्रय क्षमता में वृद्धि को ध्यान में रखकर सरकार योजनाएं लागू कर रही है. इससे लोग तेजी से गरीबी रेखा के ऊपर आ रहे हैं. प्रदेश की अर्थव्यवस्था 10 खरब डॉलर बनाने की पहल इसी दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है.

योगी सरकार प्रदेश की सैकड़ों ग्राम पंचायतों में मौजूद हर बेरोजगार को प्रशिक्षित करके रोजगार उपलब्ध कराने की मुहिम छेड़ने जा रही है. इसके लिए राज्य कौशल विकास मिशन ने एक खास ब्लूप्रिंट तैयार किया है. ग्राम पंचायत स्तर पर ही ‘मोबाइल कैंप’ के जरिए शिक्षित बेरोजगारों को कौशल विकास का प्रशिक्षण देकर रोजगार लायक बनाएगा. प्रशिक्षण के बाद बेरोजगार युवाओं का प्लेसमेंट भी कराया जाएगा. इस मोबाइल कैंप के जरिए ग्रामीण इलाके के युवकों को घर के नजदीक ही ट्रेनिंग सेंटर में कौशल विकास का प्रशिक्षण दिया जाएगा.

शिक्षा सहित अन्य विभागों में जल्द ही एक लाख पदों पर भर्ती शुरू की जाएगी. इस समय करीब एक लाख पदों पर भर्ती चल रही है. जो चार-पांच महीने में पूरी हो जाएगी. योगी ने कहा कि हम हर योग्यता और हर क्षेत्र के लोगों के लिए रोजगार की व्यवस्था कर रहे हैं. प्रदेश में बड़े पैमाने पर आने वाले निवेश से भी नौकरियां पैदा होंगी. अकेले डिफेंस कॉरिडोर से 2.50 लाख रोजगार पैदा होंगे. मनरेगा में हमने रोजगार दिवस 14 करोड़ से बढ़ाकर 26 करोड़ करने का लक्ष्य तय किया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि 1954 में प्रदेश की प्रति व्यक्ति आय देश से ज्यादा थी. आज आधी रह गई है. सरकार ने 10 खरब डालर की अर्थव्यवस्था बनाने की पहल में जिलों को केंद्र के रूप में लिया है. हर जिले की जीडीपी की गणना होगी और उसे बढ़ाने की रणनीति तैयार की जाएगी. कृषि निर्यात बढ़ाने का प्रयास हो रहा है. गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले परिवारों की आवास, शौचालय, रसोई गैस जैसी जरूरतें सरकारी स्तर से पूरी की जा रही हैं. इससे इन वर्ग के लोगों की अपनी कमाई बच रही है. धान, गेहूं, मक्का, आलू जैसे उत्पादों की खरीद कर खाते में भुगतान किया जा रहा है.

अमेरिका-चीन ट्रेड वार का सबसे बड़ा फायदा भारत को और फिर यूपी को होने वाला है. कॉर्पोरेट टैक्स कम होने से चीन से पलायन करने वाली कंपनियां भारत और फिर यूपी में आएंगी. इसके लिए प्रतिस्पर्धी नीतियां बनाई गई हैं। यूपी में सबसे अच्छी कनेक्टिविटी, मैनपॉवर और लैंड बैंक है. कोरिया के निवेशकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने 50-60 हजार करोड़ रुपये के निवेश की इच्छा जताई है. सरकार एक वर्ष के भीतर एक लाख युवाओं को नौकरियां देगी.

1,436 total views, 1 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *