अखिलेश की शायरी काम किसी और का फिता काटे कोई और पर सीएम योगी (Yogi Adityanath) का जवाब..

यूपी की भारतीय जनता पार्टी के चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने संभाल रखी है..दोस्तों एक रैली में योगी ने अखिलेश यादव पर जमकर निशाना लगाया था..अखिलेश यादव ने जिन्ना को लेकर जो बयान दिया उस पर उन्होने कहा कि समाजवादी पार्टी के मुखिया ने जिन्ना की तुलना सरदार पटेल से की..ये तालिबानी मानसिकता भारत को विभाजित करने में विश्वास करती है..अब मुख्यमंत्री का पुराना इंटरव्यू भी वायरल हो रहा है..

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) का जो इंटरव्यू वायरल है उसमें योगी आदित्यनाथ से अखिलेश यादव की सरकार में जो काम शुरु हुए थे उनके बारे में सवाल किया गया था..उस बात पर योगी आदित्यनाथ ने साफ कहा था कि पिछली सरकारों की ऐसी कोई भी ठोस योजना नहीं थी जिन्हें चालू रखा जाए, जब दोबारा उनसे पूछ गया कि क्या आपने अखिलेश यादव की योजनाओं को आपने जारी रखा है या नही..क्या योगी जी की सरकार में नया दौर चला है कि काम किसी और का फीता कोई और काटे..

अब इस सवाल का जवाब देते हुए योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) कहते हैं कि इस बात पर अखिलेश यादव को खुद विचार करना चाहिए की जनता ने उन्हें सत्ता से बेदखल क्यों कर दिया..हमारा काम और हमारी नीतियां सब जनता के हित में है..औऱ यही वजह है कि जनता हमारे साथ है..अब जहां तक बात योजनाओं को जारी रखने की है तो समाजवादी पार्टी की जो योजनाएं उत्तर प्रदेश के हित में थी वो चल रही हैं..उनकी जो योजनाएं उनकी एक वर्ग विशेष की तुष्टि के लिए रही होंगी या एक पार्टी के लोगों को संतुष्ट करने के लिए होंगी उनको बन्द कर दिया है..

इसके बाद जब योगी जी (Yogi Adityanath) से दूसरी सवाल किया गया कि अखिलेश कहते हैं कि बीजेपी अपने काम को जनता तक नहीं पहुंचा पाई लेकिन सोशल इंजीनियरिंग करके सभी जातियों को इकट्ठा करके सरकार बना ली..इस बात का जवाब देते हुए योगी जी ने कहा अखिलेश यादव ने काम नहीं कारनामे किए थे..और उनके कारनामों को हर व्यक्ति जानता है..क्योंकि उत्तर प्रदेश में दंगें उन्ही की सरकार में होते थे..कोई भी व्यक्ति सुरक्षित नहीं है..हर तरह का हर प्रकार का शासन उनकी ही सरकार में था..

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) अपने एक इंटरव्यू में कहा था..कि हम 24 महीने के अंदर देश के सबसे बड़े एक्सप्रेस-वे बनाएंगें..औऱ बहुत जल्दी हमारे प्रधानमंत्री जी से उस एक्सप्रेस-वे शिलान्यास करवाएंगें..लेकिन इसका क्रेडिट भी अखिलेश यादव अगर लेना चाहते हैं..तो वो ले सकते हैं..हम लोग सर्वे कर रहें हैं औऱ बुंदेलखंड एक्सप्रेस वो बनाने जा रहें हैं..अब विपक्ष वाले कहेंगें कि हमें सपना आया था कि बुंदेलखंड में एक्सप्रेस-वे बनना चाहिए..लेकिन यहां पर अब इन सब बातों का कोई मतलब नहीं है..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *