बीजेपी की रैली में दिखे ‘दी ग्रेट खली’ तो भड़क उठीं ममता दीदी, पहुँच गईं चुनाव आयोग

लोकसभा चुनाव का प्रचार-प्रसार जोरों पर है. और जनता को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए बड़े बड़े कलाकारों और फ़िल्मी सितारों का साथ लिया जा रहा है. तो वहीँ अब बीजेपी ने रेसलर ‘दी ग्रेट खली’ की भी एंट्री करवा ली है.

wrestler the great khali campaigs for bjp in jadavpur tmc writes election commission
wrestler the great khali campaigs for bjp in jadavpur

दरअसल पश्चिम बंगाल के जाधवपुर में बीजेपी कैंडिडेट अनुपम हाजरा शुक्रवार को रोड शो कर रहे थे. जिसमें खली भी शामिल हुए थे. और बीजेपी का प्रचार कर रहे थे. आपको बतादें की कुछ महीनों पहले ही अनुपम हाजरा बीजेपी में शामिल हुए थे और इस लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने उन्हें पश्चिम बंगाल के जाधवपुर से अपना प्रत्याशी बनाया है. उनकी रैली में खली पहुंचे तो उन्हें देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ लग गई.

-----

द ग्रेट खली अनुपम हजारा के अच्छे दोस्त हैं. प्रचार के दौरान उन्होंने कहा, ‘मेरे लिए दोस्ती पार्टी से ऊपर है. अनुपम गरीबों का दर्द समझते हैं. वो जानते हैं कि संसद में उनकी बात किस तरह से उठाई जाए. रैली में खली ने पीएम मोदी की भी प्रशंसा की. जब उनसे सवाल पूछा गया कि क्‍या आप समझते हैं कि पीएम मोदी के नेतृत्‍व में भारत को एक मजबूत सरकार मिल सकती है? इस पर खली ने कहा, ‘मेरा मानना है कि ऐसा ही होगा क्‍योंकि पीएम मोदी ने भारत का नाम पूरी दुनिया में मशहूर किया है.

वहीं बीजेपी जॉइन करने के सवाल पर खली ने कहा, ‘मैं एक रेसलर हूं, मैं राजनीति नहीं समझता. मैं केवल अपने भाई के समर्थन में आया हूं. मैं पीएम मोदी और अनुपम का समर्थन कर रहा हूं ताकि देश मजबूत हो और आगे बढ़े. मगर खली की ये बात ममता दीदी को पसंद नहीं आई और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने इसकी शिकायत चुनाव आयोग से कर दी है. टीएमसी ने कहा है कि खली के पास अमेरिकी नागरिकता है. और एक विदेशी को भारतीय मतदाताओं को प्रभावित करने की इजाजत नहीं दी जा सकती है.

अभी तक चुनाव आयोग का इस पर कोई बयान नहीं आया है. आपको बतादें कि पश्चिम बंगाल के उत्तर दिनाजपुर में कुछ दिनों पहले टीएमसी का प्रचार करने बांग्लादेशी अभिनेता फिरदौस अहमद पहुंचे थे. तब बीजेपी ने भी टीएमसी पर एक बांग्लादेशी एक्टर से चुनाव प्रचार करवाने का आरोप लगाया था. जिसके बाद फिरदौस उसी दिन बांग्लादेश वापस लौट गए थे.