दिवाली क्यों मनाई जाती है ? ये हैं वो 5 बड़े कारण, क्या आप जानते हैं ?

हिंदुओं का सबसे बड़ा त्यौहार दिवाली का आरंभ धनतेरस के शुभ दिन से ही हो जाता है. धनतेरस से आरंभ होते हुए नरक चतुर्दशी, दीवाली, गोवर्धन पूजा और भाईदूज तक ये त्यौहार उत्साह के साथ मनाया जाता है.

Why is Diwali celebrated 5 big reasons
Why is Diwali celebrated 5 big reasons

लेकिन क्या आप ये जानते भी हैं की दिवाली मनाई क्यों जाती है इसके पीछे क्या कारण है या क्या इतिहास है ? तो चलिए आज हम बताते हैं की आखिर इस दिन क्या हुआ था. देवता भी इसके गवाह हैं.

1. लक्ष्मी का अवतरण- कार्तिक मास की अमावस्या तिथि‍ को मां लक्ष्मी समुद्र मंथन के द्वारा धरती पर प्रकट हुई थीं. तभी से इस दिन को एक पर्व और मां लक्ष्मी के स्वागत के रूप में मनाया जाने लगा. जिसे दीपावली भी कहते हैं. इस दिन हर घर को सजाया संवारा जाता है ताकि‍ मां का आगमन हो सके.

2. भगवान विष्णु का माँ लक्ष्मी को बचाना- इस घटना को शास्त्रों में भी पढ़ सकते हैं. कहा जाता है कि इस दिन भगवान विष्णु ने वामन अवतार लेकर राजा बलि से माता लक्ष्मी को मुक्त करवाया था.

3. भगवान राम की विजय- जब भगवान राम, सीताजी और भाई लक्ष्मण के साथ 14 वर्ष का वनवास काट कर लंका के रावण का वध करके वापस अयोध्या लौटे थे. तो उनके स्वागत में पूरी अयोध्या को दीप जलाकर रौशन किया गया था. तभी से दिवाली मनाई जाने लगी.

4 नरकासुर वध- इस दिन भगवान कृष्ण ने नरकासुर का वध कर 16000 स्त्र‍ियों को मुक्त करवाया था. इसी खुशी में दीप जला कर इस ख़ुशी को दो दिन तक मनाया गया. तभी से इसे दिवाली और विजय पर्व के नाम से जाना जाने लगा.

5 पांडवोंं की वापसी- महाभारत के अनुसार जब कौरव और पांडव के बीच होने वाले चौसर के खेल में पांडव हार गए, तो उन्हें 12 वर्ष का अज्ञात वास दिया गया था. पांचों पांडव अपना 12 साल का वनवास काट कर इसी दिन वापस लौटे थे. इसी खुशी में दीप जलाकर दीपावली मनाई गई थी.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *