गाजा पट्टी क्या है ? कौन रहता है यहाँ ? इज़राइल ने इसे दुश्मन क्षेत्र क्यों घोषित किया ? जानें सब कुछ

10 मई से गाजा पट्टी से इजराइल पर हजारों रॉकट दागे गए, इजराइल ने भी जवाबी हमला करते हुए गाजा पट्टी की कई इमारतें ध्वस्त कर दी हैं. दोनों के बीच इस युद्ध में आम नागरिक मारे जा रहे हैं. गाजा पट्टी आखिर है क्या इस बारे में विस्तार से जानते हैं.

कितना बड़ा है गाजा पट्टी ?

गाजा पट्टी इजराइल के दक्षिण-पश्चिम में मौजूद एक 6-10 किंमी. चौड़ी और कोई 45 किमी लम्बा क्षेत्र है. इसके तीन ओर इसरायल का नियंत्रण है और दक्षिण में मिस्र है. गाजा पट्टी एक फिलिस्तीनी क्षेत्र है. फिलिस्तीन अरबी और बहुसंख्य मुस्लिम बहुल इलाका है. गाजा पट्टी एक जमाने में इजरायल के नियंत्रण में था लेकिन पिछले एक दशक से इस फिलीस्तीन अथारिटी का शासन है और इसे हमास संचालित कर रहा है.

गाजापट्टी में करीब 15 लाख की है आबादी

गाजा पट्टी का नाम इसके प्रमुख शहर ग़ज़ा पर पड़ा है. इसका दूसरा प्रमुख शहर इसके दक्षिण में स्थित राफ़ा है जो मिस्र की सीमा से लगा है. गाजापट्टी में करीब 15 लाख लोग रहते हैं, जिसमें 04 लाख से ज्यादा लोग अकेले ग़ज़ा शहर में रहते हैं. 1948 में UN ने फिलिस्तीन को यहुदी और अरब राज्य में बांट दिया था तभी से फिलिस्तीन और इजराइल के बीच संर्घष जारी है.

-----

25 सालों तक रहा इजरायल का कब्जा

बंटवारे के बाद गाजा पट्टी फिलिस्तीन में था लेकिन जून 1967 के युद्ध के बाद इजरायल ने फिर से गाजा पट्टी पर कब्जा कर लिया. इसके बाद इजरायल ने 25 सालों तक इस पर कब्जा बनाए रखा फिर दिसंबर 1987 में गाजा के फिलिस्तिनियों के बीच दंगों और हिंसक झड़प ने एक विद्रोह का रूप ले लिया. जून 2007 में वहां चुनाव हुए और हमास ने चुनाव जीत कर गाजा पट्टी पर अपना कब्जा कर लिया और फतह (फिलिस्तिन राजनीतिक समूह) की अगुवाई वाली आपातकालीन कैबिनेट ने पश्चिम बैंक का कब्जा कर लिया था.

-----

इजरायल ने लगाया प्रतिबंध

जैसे ही गाजा पट्टी पर हमास ने कब्ज़ा किया तभी इजरायल ने गाजा पट्टी को दुश्मन क्षेत्र घोषित कर दिया और इसके साथ ही गाजा पर कई प्रतिबंधों को मंजूरी दी. इसमें बिजली कटौती, भारी प्रतिबंधित आयात और सीमा को बंद करना शामिल था. फिर जनवरी 2008 में हुए हमलों के बाद गाजा पर इन प्रतिबंध को और बढ़ा दिया गया और सीमा को सील कर दिया गया. ताकि अस्थायी रूप से ईंधन आयात को रोका जा सके.

21 लाख के क़रीब हो गई आबादी

गाजा दुनिया भर में सबसे घनी आबादी वाला इलाक़ा है. यहाँ प्रति वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल में 4,505 लोग रहते हैं. अनुमान के मुताबिक़ 2020 तक यहां प्रति वर्ग किलोमीटर 5,835 लोग रहने लगे. 2020 तक इसकी आबादी 21 लाख के क़रीब हो गई है. आबादी में 53 फ़ीसदी से ज़्यादा लोग युवा हैं. यहाँ 21 फ़ीसदी आबादी बेहद ग़रीब है. यहां बेरोज़गारी दर 40.8 फ़ीसदी है. यहां की सरकार के पास इतना भी पैसा नहीं है कि वे अपने 50 हज़ार कर्मचारियों को समय पर वेतन दे पाएं.

गाजा पट्टी की 80 फ़ीसदी आबादी भोजन के लिए दूसरों पर निर्भर है. इसराइल की ओर से घोषित संघर्ष क्षेत्र में खेती पर रोक से ग़ज़ा का अनाज उत्पादन 75 हज़ार टन कम हो गया है. समुद्री क्षेत्र में मछली मारने के लिए लगाए प्रतिबंध से भी ग़ज़ा के लोगों की मुश्किलें बढ़ी हैं.

हमास क्या है ? क्या करता है ? जानने के लिए क्लिक करें-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *