नंदीग्राम में नहीं हुई हिंसा, चुनाव आयोग ने ममता को दिया जवाब, कहा- आपके आरोप गलत

बंगाल चुनाव में लगातार हिंसा जारी है. नंदीग्राम में वोटिंग के दौरान हुए बवाल के बाद तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखकर आरोप लगाए थे. आयोग ने उसका जवाब भी दे दिया है.

west bengal assembly election violence nandigram

आयोग ने साफ कहा है कि नंदीग्राम में बूथ नंबर 7 पर शांतिपूर्ण मतदान हुआ, यहां किसी भी तरह की कोई हिंसा नहीं हुई. आपकी चिट्ठी में लिखी बातें तथ्यात्मक नहीं हैं. एक अप्रैल को नंदीग्राम वोटिंग में बाधा नहीं हुई. बीएसएफ जवानों पर लगाए आरोप सरासर गलत हैं. हिंसा और वोटर्स को डराने की बात गलत है.

आयोग ने यह भी कहा कि नंदीग्राम में मतदान केंद्रों पर सुबह 5.30 बजे एक मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया और सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ. इस मॉक ड्रिल के दौरान सभी राजनीतिक दलों के पोलिंग एजेंट मौजूद थे. ये साबित करने के लिए सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध है कि चुनाव में कोई गड़बड़ी नहीं हुई.

बतादें कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग से केंद्रीय सुरक्षा बलों के केंद्र सरकार के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया था. ममता ने कहा था की चुनाव आयोग को 63 शिकायतें दर्ज कराई हैं लेकिन आयोग गंभीरता से नहीं ले रहा है. ममता ने आरोप लगाया था कि गृह मंत्री खुद सीआरपीएफ, बीएसएफ और अन्य जवानों को निर्देश दे रहे हैं कि वे सिर्फ बीजेपी और उनके लोगों की मदद करें. मैं चुनाव आयोग से उनकी चुप्पी के लिए खेद प्रकट करती हूं.