भारत-रूस के बीच हुए 8 समझौते, पुतिन ने कहा- यहां आकर दोस्ती का माहौल मिला

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन दो दिवसीय भारत दौरे पर हैं. पुतिन गुरुवार को दिल्ली पहुंचे और शुक्रवार को व्लादिमीर पुतिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हैदराबाद हाउस में मुलाकात की. यहां मोदी और पुतिन के नेतृत्व में हुई द्विपक्षीय वार्ता में भारत-रूस में कई बड़े समझौते हुए हैं. साथ ही दोनों देशों के बीच अंतरिक्ष सहयोग के लिए सौदे पर हस्ताक्षर हुए. और एयर डिफेंस सिस्टम एस-400 पर भी मुहर लग गई है.

द्विपक्षीय वार्ता में बोले नरेंद्र मोदी

रूस के साथ भारत ने पांच एस-400 मिसाइल समझौते पर हस्ताक्षर कर दिए हैं. भारत पहले ही यह स्पष्ट कर चुका था कि यह मिसाइल प्रणाली भारत की सुरक्षा के लिए काफी महत्वपूर्ण है और भारत उसे हासिल करके ही रहेगा. रूस और भारत के इस सौदे से पड़ोसी मुल्क चीन और पाकिस्तान को चिंता हो गई है. द्विपक्षीय वार्ता में नरेंद्र मोदी ने कहा कि आतंकवाद के विरूद्ध संघर्ष, अफगानिस्तान तथा इंडो पैसिफिक के घटनाक्रम, जलवायु परिवर्तन, एससीओ, ब्रिक्स जैसे संगठनों एवं जी20 तथा आसियान जैसे संगठनों में सहयोग करने में हमारे दोनों देशों के साझा हित हैं.

भारत की तारीफ में बोले व्लादिमीर पुतिन

भारत-रूस के बीच हुए 8 समझौते
फोटो सौजन्य से- twitter @narendramodi
-----

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा, मैं भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भारत-रूस के बीच इस महत्वपूर्ण मुद्दों पर द्विपक्षीय बातचीत के आयोजन के लिए धन्यवाद देता हूं. भारत के साथ हमारा पुराना और मजबूत रिश्ता है, मैं भारतीय कंपनियों को रूस में कारोबार करने के लिए आमंत्रित करता हूं. पुतिन ने कहा कि यहां आकर दोस्ती का माहौल मिला. मुझे बहुत खुशी हो रही है कि मैं मोदी को अगले व्लादिवोस्तोक फोरम में एक बार फिर मुख्य अतिथि के तौर पर न्योता दे रहा हूं.

भारत-रूस के 8 करार

1. 40 हजार करोड़ में एस-400 मिसाइल सिस्टम डील
2. रेलवे में सहयोग
3. एमएसएमई क्षेत्र में सहयोग
4. फर्टिलाइजर सेक्टर में करार
5. गगनयान अभियान में सहयोग
6. अंतरराष्ट्रीय संस्थानों में सहयोग
7. ऊर्जा के क्षेत्र में करार
8. परमाणु क्षेत्र में सहयोग