अखिलेश के खिलाफ बहुबली अतीक अहमद: (Vidhansabha Election 2022)

दोस्तों 2022 विधानसभा चुनाव (Vidhansabha Election 2022) से पहले एक बहुत बड़ा डेवलपमेंट सामने आया है..ये खबर 2022 के विधानसभा चुनावों को बहुत हद तक प्रभावति करेगी..क्योंकि देश में मुस्लिम वोटरों के एकलौते हीरो असुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने बहुबली अतीक अहमद (Ateeq Ahmad) की पत्नी को अपनी पार्टी में शामिल कर लिया है..ओवैसी पर बाहरी होने का ठप्पा लगता था..लेकिन देश के एकलौते मुसलमानों के मसीहा असुद्दीन ओवैसी यूपी में सिर्फ मुसलमानों को अपनी तरफ करने के लिए जी जान से लगे हुए हैं..

मुसलमान ओवैसी को अपना हीरो मानते हैं..ओवैसी बड़े वकील हैं..लेकिन आजम खान की मदद नहीं की..क्यों नहीं की..वो ओवैसी जानें..खैर ओवैसी की पार्टी यूपी के चर्चित मुस्लिम घरानों से कैंडीडेट खड़ा करके बीजेपी से सीधी टक्कर लेने वाली समाजवादी पार्टी का खेल बिगाड़ेगी..अतीक अहमद वही हैं..जिनको अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने 2017 में समाजवादी पार्टी से टिकट नहीं दिया था…कहते हैं अतीक अहमद की बेगम शाइस्ता परवीन को प्रयागराज पश्चिम से टिकट दिया जाएगा..अतीक अहमद भी प्रयागराज जेल में बंद हैं…

दोस्तों 2022 के विधानसभा चुनाव (Vidhansabha Election 2022) में ओवैसी बीजेपी के खिलाफ गरजेंगे..बीजेपी ओवैसी के खिलाफ गरजेगी..माहौल ऐसा बनेगा कि अगर बहुसंख्यक हिंदू बीजेपी को वोट नहीं देंगे तो ओवैसी का हिंदुस्तान पर कब्जा हो जाएगा..फिर 80 प्रतिशत हिंदुओं को खतरे में बताया जाएगा..उसके बाद हिंदुओं को बीजेपी के भीतर ही अपना मसीहा नजर आएगा..और फिर 2022 का रिजल्ट आ जाएगा..

Disclamer- उपर्योक्त लेख लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार द्वारा लिखा गया है. लेख में सुचनाओं के साथ उनके निजी विचारों का भी मिश्रण है. सूचना वरिष्ठ पत्रकार के द्वारा लिखी गई है. जिसको ज्यों का त्यों प्रस्तुत किया गया है. लेक में विचार और विचारधारा लेखक की अपनी है. लेख का मक्सद किसी व्यक्ति धर्म जाति संप्रदाय या दल को ठेस पहुंचाने का नहीं है. लेख में प्रस्तुत राय और नजरिया लेखक का अपना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *