गर्मी से मिली राहत, तेज बारिश, भयंकर ओलावृष्टि और बिजली गिरने से 30 लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश में मौसम ने अपना मिज़ाज बदल लिया है. भीषण गर्मी और लू से भी राहत मिल गई है. एक तरफ जहाँ लोग कोरोना से परेशान हैं वहीं बदलते मौसम और ठंढी हवाओं ने सबके चेहरे पर एक हलकी मुस्कान ला दी है.

uttar pradesh heavy storm and rain many districts 30 people died
uttar pradesh heavy storm and rain many districts 30 people died

राजधानी लखनऊ सहित कई जिलों में तेज आंधी तूफ़ान के साथ झमाझम बारिश हुई. जिसने मौसम का पूरा मिजाज बदल दिया और चिलचिलाती गर्मी से काफी राहत दे दी है. बारिश की वजह से तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है. इसके अलावा उत्तर प्रदेश के कई जिलों में आकाशीय बिजली गिरने की खबरें आ रही हैं. आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र, लखनऊ के अनुसार रविवार को भी प्रदेश के कुछ इलाकों में गरज-चमक के साथ आंधी-बारिश हो सकती है. 50 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी आ सकती है.

वहीं पूरे प्रदेश में आंधी-तूफान के कारण हुए विभिन्न हादसों और बिजली गिरने से कुल 30 लोगों की मौत हुई है. उत्तर प्रदेश के कानपुर में बिल्हौर तहसील मुख्यालय के आसपास सदी की सबसे भयंकर और प्रलयंकारी ओलावृष्टि से भारी नुकसान हुआ. कई स्थानों पर दीवारें, पानी की टंकियां, बाइक-कार, सोलर प्लेट, टिनशेड, पाइप लाइन, बिजली तार-खंभे, ट्रांसफार्मर, घरों के बाहर बंधे मवेशियों, पशुबाड़ा, चारदीवारी टूटने से भारी नुकसान हुआ है.

ओलावृष्टि इतनी भयंकर थी कि आसमान से करीब एक-एक किलो वजन के पत्थर बरसने लगे. छप्परों, टिनशेड और पेड़ों के नीचे बारिश से बचने के लिए खड़े लोगों में चीख-पुकार मच गई. 20 मिनट तक गिरे बड़े-बड़े ओलों ने लोगों को चीखने चिल्लाने के लिए मजबूर कर दिया. कई गांवों में मवेशी, मुर्गियां, पक्षी और घरेलू पशुओं के मरने और घायल होने की सूचना है.

मरने वालों में कन्नौज और उन्नाव में छह-छह लोगों की मौत, आगरा में तीन, रायबरेली में तीन, प्रतापगढ़ में दो, प्रयागराज में तीन, कानपुर, कौशांबी, गोंडा, लखीमपुर खीरी, मुजफ्फरनगर में एक-एक और मैनपुरी में दो व्यक्तियों की मृत्यु हुई है. वहीं पीलीभीत में बिजली गिरने से नौ लोग झुलस गए. फीरोजाबाद में 10, आगरा में नौ और पीलीभीत में एक व्यक्ति घायल हुआ, मैनपुरी में 20, फीरोजाबाद में 17 और आगरा में 10 पशुओं की भी जान ले ली है.

आगरा में 124 किमी की रफ्तार से आए बवंडर ने न केवल ताजमहल बल्कि सिकंदरा, एत्माद्दौला, मेहताब बाग समेत कई स्मारकों को काफी नुकसान पहुंचाया है. मौसम विभाग का कहना है कि पश्चिमी विक्षोभ और यूपी और बिहार के सीमावर्ती इलाकों में हवा के कम दबाव के चलते मौसम में बदलाव रहेगा.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिजली गिरने से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया है. उन्होंने सभी दिवंगत के परिवारीजन को चार-चार लाख रुपये की राहत राशि तत्काल वितरित करने का निर्देश दिया है. उन्होंने अधिकारियों को दैवी आपदा से प्रभावित लोगों को राहत और मदद पहुंचाने का कार्य पूरी तत्परता से करने का निर्देश दिया है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *