आओ तारीफ-तारीफ खेलें : संपादकीय व्यंग्य Uttar Pradesh Election 2022

Pragya Ka Panna Editorial
Uttar Pradesh Election 2022:

Uttar Pradesh Election 2022: वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने सीएम योगी (CM Yogi) की इतनी तारीफ की इतनी तारीफ की..कि लोगों को हजम ही नहीं हुआ..मोदी जी ऐसे बोल रहे थे जैसे यूपी सरकार नहीं होती तो यूपी खत्म हो जाता..जैसे विदेशी फिल्मों के हीरो दुनिया बचाने निकलते हैं..वैसे ही योगी जी ने यूपी को बचा लिया..मोदी जी को सुनते हुए हंसी भी आ रही थी..और गुस्सा भी..कोरोना (Corona) के मामले में मोदी जी (PM Modi) और योगी जी (CM Yogi) का रिपोर्ट कार्ड एक जैसा है..अब जोर जोर से एक दूसरे की तारीफ करने के अलावा बहुत कुछ बचता नहीं है..राजनीति में ऐसा ही होता है कि झूठ को इतनी जोर से सच कहो कि लोगों को लगने लगे कि झूठ ही असली सच है..(Uttar Pradesh) यूपी में चुनाव होने वाले हैं..तो अपनी नाकामियों को कामयाबी बताना राजनीति की जरूरत भी है..Uttar Pradesh Election 2022:

मोदी (Modi) जी चाहे जो कहें…लेकिन मैं बिना लाग लपेट कह सकती हूं कि कोरोना के समय यूपी से सरकार नाम की चिड़िया उड़ चुकी थी..कालाबाजारी चरम पर थी..एक एक इंजेक्शन के लिए लोग गिड़गिड़ा रहे थे..अस्पताल में भर्ती होने के लिए सीएमओ से लेटर लिखवाना पड़ता था..सीएमओ गायब रहता था…ऑक्सीजन के लिए हाहाकार था..हाईकोर्ट तक ने लॉकडाउन (Lockdown) लगाने के लिए कहा था लेकिन यूपी सरकार ने लॉकडाउन लगाने से इंकार कर दिया था..मोदी जी भी बंगाल में थे..योगी जी भी बंगाल में थे..योगी जी जब लौटे तो कोरोना पॉजिटिव हो गए..यूपी तड़प रहा था..कार की छत पर ई रिक्शा पर लाशें जा रही थीं..श्मसान फुल थे..20-20 घंटे से ज्यादा की वेटिंग थी..नदियों ने लाशें बह रही थीं..बाद में योगी जी ठीक हुए तो पर्नली मेहनत की..इसमें कोई दो राय नहीं हैं..योगी जी पर्सनली काम कर रहे थे बाकी सरकार पीछे से गायब थी..
यूपी के हालात ये थे लोग ट्विटर पर मदद मांगते मांगते मर जा रहे थे..ऑक्सीजन की भारी किल्लत थी लेकिन सरकार के मुताबिक तब भी ऑक्सीजन पर्याप्त थी..अस्पतालों में अपना सिलेंडर लेकर जाना पड़ता था..कोरोना में यूपी की सरकार ने यूपी को संभाल लिया..ये इस सदी का सबसे बड़ा झूठ है..जो परिस्थितियां मैंने बताईं हैं..ये एक हजार फीसदी सच हैं और अगर इसे ही संभालना कहते हैं तो फिर ठीक है..

दोस्तों राजनीति में अपनी कमजोरी को ही अपनी ताकत बताना पड़ता है..बीजेपी (BJP) को मालूम है कोरोना से ज्यादा फजीहत उनकी कभी नहीं हुई है..इसीलिए बीजेपी हर भाषण में कोरोना की नाकामी को कामयाबी बताने पर जोर देते है..मोदी जी ने यूपी की जनसंख्या का भी एक्सक्यूज दिया..मोदी जी (PM Modi) ने भारत के स्वास्थ्य मंत्री को हटा दिया है..क्यों हटाया है परफॉर्मेंस के आधार है..मतलब देश का स्वास्थ्य मंत्री कोरोना के समय देश को संभाल नहीं पाया था..एक तरफ देश का स्वास्थ्य मंत्री कोरोना कंट्रोल करने में नाकाम था..दूसरी तरफ योगी जी कोरोना को कंट्रोल करने में कामयाब थे..

-----

ऐसा था क्या ? और अगर कामयाब थे तो यूपी का मुख्यमंत्री बदलने की जो बातें चल रही थीं वो अफवाहें ही होंगीं शायद..लोग कह रहे हैं कि मोदी जी ने योगी जी कि इतनी तारीफ कर ही दी है तो फिर ये भी कह देना चाहिए था कि 2022 में योगी जी ही यूपी को हर मुसीबत से बचाएंगे..लेकिन ये नहीं कहा…ये कहते तो अच्छा होता..लोगों को भरोसा भी होता कि यूपी (Uttar Pradesh) को हर संकट से उबारने वाले योगी जी ही यूपी के अगले मुख्यमंत्री होंगे..देश कोरोना के आगे हार गया हो या फिर प्रदेश हार गया हो..आज की तरीख का सच ये है कि खुद को कोरोना नाशाक राजा कहना बीजेपी के लिए जरूरी भी है और मजबूरी भी है..चलते हैं राम राम दुआ सलाम..जय हिंद..मुझे ट्वटर पर @PRAGYALIVE नाम से खोजकर फॉलो जरूर कीजिए..क्योंकि साथ आएंगे तो सच और शक्तिशाली होगा..

-----

डिस्क्लेमर- लेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. भाषा में व्यंग्य है. लेखक का मक्सद किसी पार्टी किसी व्यक्ति किसी सरकार किसी धर्म जाति किसी मानव किसी जीव या फिर किसी संवैधानिक पद का अपमान करना या उनके सम्मान को छति पहुंचाने का नहीं है.. इसलिए व्य्ग्य को व्यंग्य की तरह लें..लेख में सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. भाषा में स्थानीय या यूपी की रीजनल भाषा को सरल करके प्रस्तुत किया गया है. समझाने के लिए बात घुमाकर कही गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *