लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिल रही, अधिकारी अपना मोबाइल बंद किये हैं, धरना देने पर मजबूर न करें: BJP सांसद

राजधानी लखनऊ के मोहनलालगंज लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद कौशल किशोर ने आक्सीजन की पूर्ति को लेकर सवाल उठाए हैं. और धरने पर बैठने की चेतावनी भी दे दी है.

सांसद कौशल किशोर ने बताई प्रशासन की नाकामी

लखनऊ के हालात पर सांसद कौशल किशोर ने कहा कि मैं धरने पर नहीं बैठना चाहता क्योंकि मैं नहीं चाहता हूं कि अफरा-तफरी का कोई माहौल पैदा हो. होम आइसोलेशन में मरीजों को ऑक्सीजन की सख्त जरूरत है. लोगों को ऑक्सीजन मिलेगी तो अस्पतालों पर दबाव कम होगा. लेकिन सैकड़ों लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही है.

-----

लखनऊ प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि कोरोना काल में मरीजों की मदद करने के लिए जिन अधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई है, उनमें से ज्यादातर अधिकारियों का फोन बंद बता रहा है. प्रशासन से मेरा आग्रह है कि कृपया सभी जिम्मेदार अधिकारी अपना-अपना मोबाइल बंद न करें. पीड़ित लोगों की बात सुने और उनको सुविधा मुहैया कराए एडमिट कराएं.

-----

परमवीर चक्र विजेता के बेटे का निधन

इससे पहले गाजीपुर के रहने वाले परमवीर चक्र विजेता वीर अब्दुल हमीद के बेटे अली हसन का निधन हो गया. परिजनों ने सीधे तौर पर आरोप लगाया है कि हैलट प्रशासन को ये जानकारी ही गई थी कि अली हसन के पिता अब्दुल हमीद परमवीर चक्र से सम्मानित हुए थे और उन्होंने देश के लिए अपनी जान की परवाह न करते हुए दुश्मनों के ऊपर आक्रमण कर दिया था, फिर भी उनकी तरफ से सिलेंडर की व्यवस्था नहीं की गई.

औरैया और लखनऊ पश्चिम से बीजेपी विधायकों का निधन

औरैया जिले से BJP के सदर विधायक रमेश दिवाकर का मेरठ मेडिकल कॉलेज में निधन हो गया था. संक्रमण उनके फेफड़े तक पहुंच गया था. वहीं लखनऊ पश्चिम से बीजेपी विधायक सुरेश श्रीवास्तव का भी संक्रमण की वजह से निधन हो गया है. वे 7 दिन से वेंटिलेटर पर थे. इससे 5 दिन पहले सुरेश श्रीवास्तव के निजी सचिव की भी कोरोना से ही मौत हुई थी. सुरेश श्रीवास्तव के दो बेटे और एक बेटी है. एक बेटा और पत्नी संक्रमित हैं और उनका इलाज चल रहा है.

BSP सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे नारायण सिंह और उनकी बेटी का शुक्रवार सुबह निधन हो गया. दोनों कोरोना संक्रमित थे. वहीं, कौशांबी के पूर्व सांसद सुरेश पासी का भी कोरोना से निधन हो गया. वे 65 साल के थे.

-----