UP उपचुनाव में BJP का परचम, 7 में से 6 सीटों पर बड़ी जीत, सपा को मिली एक, देखें- कौन कितने वोटों से जीता ?

उत्तर प्रदेश की 7 सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी ने फिर अपना परचम लहरा दिया है. सात में से छह सीटों पर बीजेपी और जौनपुर की मल्हनी सीट पर सपा ने अपना कब्जा बरकरार रखा है.

uttar pradesh byelection 2020 bjp win six seat
uttar pradesh byelection 2020 bjp win six seat

इन सात सीटों पर 88 कैंडिडेट्स अपनी किस्मत आजमा रहे थे. और अब उसका फैसला भी हो गया है. मतगणना स्थलों पर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए थे.

उन्नाव की बांगरमऊ सीट पर बीजेपी के श्रीकांत कटियार ने जीत दर्ज की है. उन्होंने 71303 वोट प्राप्त कर कांग्रेस की आरती बाजपेयी को 31274 वोटों से पराजित किया है.

बुलंदशहर सीट बीजेपी विधायक वीरेंंद्र सिंह सिरोही के निधन से खाली हुई थी. इस सीट पर उनकी पत्नी उषा सिरोही ने चुनाव लड़ा और जीत भी लिया है. बीजेपी की उषा सिरोही को 86879 वोट मिले हैं. उन्होंने बसपा के मोहम्मद युनूस को 20,962 वोटों से शिकस्त दी है. मोहम्मद युनूस को 65917 वोट मिले हैं.

देवरिया में बीजेपी के डॉ. सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी ने सपा के ब्रह्माशंकर त्रिपाठी को 20 हजार 93 वोटों से हरा दिया है. डॉ. सत्यप्रकाश को 68649 और ब्रह्माशंकर को 48556 वोट मिले हैं.

कानपुर नगर की घाटमपुर (सुरक्षित) सीट पर बीजेपी के उपेंद्र नाथ पासवान ने कांग्रेस के डॉ. कृपाशंकर को 23,669 वोटों से हराया है. उपेंद्र नाथ को 60,205 और डॉ. कृपाशंकर को 36,506 वोट मिले हैं. ये सीट पूर्व मंत्री कमलारानी वरुण के निधन से खाली हुई थी.

अमरोहा की नौगांव सादात सीट पूर्व मंत्री चेतन चौहान के निधन से खाली हुई थी. जिसपर उनकी पत्नी और बीजेपी उम्मीदवार संगीता चौहान ने चुनाव लड़ा है और जीता भी. संगीता ने सपा के जावेद अब्बास को 14795 वोटों से हराया है. संगीता को 86171 और जावेद को 71376 वोट मिले हैं.

फिरोजाबाद की टुंडला (सुरक्षित) सीट पर बीजेपी के प्रेमपाल सिंह धनगर ने सपा के महाराज सिंह धनगर को 17,635 वोटों से हराया है. प्रेमपाल सिंह को 72844 और महाराज सिंह को 55209 वोट मिले हैं.

जौनपुर की मल्हनी सीट पर सपा के लक्की यादव ने निर्दलीय धनंजय सिंह को 4,604 वोटों से हराया है. लक्की यादव को 73,384 और धनंजय सिंह को 68780 वोट मिले हैं.

बता दें कि, इन 7 सीटों पर कुल 53.62% मतदान हुआ था, जबकि 2017 में इन्ही 7 सीटों पर 63.90% वोटिंग हुई थी. यानि 2017 के मुकाबले इस उपचुनाव में लगभग 12.63 फीसद कम वोट पड़े हैं. और 2017 में इन 7 सीटों में से 6 पर बीजेपी का कब्जा था, जबकि 1 सीट सपा के खाते में गयी थी. इस बार भी दोनों ही पार्टियों ने अपनी सीटें बचा ली हैं.

बड़ी जीत के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नतीजों ने 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव का संकेत दे दिया है. उपचुनाव में जीत के साथ बीजेपी उम्मीदवारों को मिली बढ़त ने आगामी चुनाव की दिशा दिखाई है. बीजेपी 2022 में भी शानदार प्रदर्शन करेगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति जनता का विश्वास बरकरार है. नतीजों ने सभी कयासों को दूर करते हुए साबित कर दिया है कि मोदी हैं तो मुमकिन है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *