जिला पंचायत चुनाव: पुलिस प्रशासन का इस्तेमाल कर रही बीजेपी, सपा दे रही कांटे की टक्कर

उत्तर प्रदेश के 75 में से 53 जिलों में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव up zila panchayat election हो रहे हैं. मतदान 11 बजे से शुरू हो चुका है जो 3 बजे तक चलेगा. इसके तुरंत बाद जिला पंचायत up zila panchayat election की मतगणना होगी. लेकिन घोषणा से पहले ही तस्वीर साफ़ नजर आ रही है.

up zila panchayat election 2021
up zila panchayat election 2021

22 सीटों पर उम्मीदवार निर्विरोध जीते

उत्तर प्रदेश के जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव up zila panchayat election में 22 सीटों पर उम्मीदवार निर्विरोध जीते हैं. जिसमें इटावा में सपा और बाकी 21 भाजपा के खाते में गई है. बचे हुए 53 जिलों में से 45 जिलों में बीजेपी का सपा से सीधा मुकाबला चल रहा है. वहीं दोनों प्रमुख दल 4 जिलों में त्रिकोणीय और 3 जिलों में चतुष्कोणीय मुकाबले के बीच फंसे हुए हैं.

इन जिलों में हुए बवाल

अयोध्या में सपा-बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच विवाद बढ़ने पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया. इस दौरान समाजवादी पार्टी से एमएलसी लीलावती कुशवाहा ने आरोप लगाया कि उनके साथ बदतमीजी हुई है. पूर्व कैबिनेट मंत्री अवधेश प्रसाद ने चुनाव की निष्पक्षता पर सवाल उठाए हैं. दरअसल विवाद की वजह ये बताई जा रही है कि सपा के जिला पंचायत सदस्य मान सिंह वांटेड हैं. वे सपा के कुछ सदस्यों के साथ वोट डालने पहुंचे थे. जिस पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने विरोध जताया तो मामला मारपीट तक पहुंच गया.

मुजफ्फरनगर में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के विपक्ष के प्रत्याशी सत्येंद्र बालियान ने प्रशासन पर सत्ता पक्ष के दबाव में आकर पार्टी बनकर काम करने का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि चुनाव आयोग के आदेश के बावजूद वोटरों को सहायक उपलब्ध प्रशासन ने कराए हैं. ये सब मंत्री विधायक के कहने पर किया जा रहा है.

सोनभद्र में भी जिला पंचायत अध्यक्ष पद में मतदान के दौरान सपाइयों की पुलिस से तीखी नोंकझोंक हो गई है. वहीं बरेली में वोटिंग के दौरान सपा कार्यकर्ता पुलिस कर्मियों से भिड़ गए हैं. आरोप है कि कुछ सपाई अपने वोटरों का इंतजार कर रहे थे. तभी इंस्पेक्टर मनोज कुमार उनसे गाली-गलौज करने लगे. ये भी आरोप है कि पुलिस लगातार वोटरों को वोट करने से रोक रही है.

नेता प्रतिपक्ष के गंभीर आरोप

नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने बताया कि सपा ने प्रदेश में जिला पंचायत सदस्यों की सबसे ज्यादा सीटें जीतीं हैं. लेकिन बीजेपी लोकतंत्र की हत्या करके पुलिस प्रशासन के इस्तेमाल से अध्यक्ष पद के चुनाव को प्रभावित कर रही है. बतादें कि 37 जिला पंचायत सीटें ऐसी हैं, जहां पर सिर्फ दो-दो उम्मीदवार ही चुनाव मैदान में हैं. दोनों ही दल के नेता अपनी-अपनी जीत के लिए जोड़-तोड़ में जुटे हैं.

6 thoughts on “जिला पंचायत चुनाव: पुलिस प्रशासन का इस्तेमाल कर रही बीजेपी, सपा दे रही कांटे की टक्कर

  • July 3, 2021 at 4:28 pm
    Permalink

    योगी जी ने उ.प्र में राम राज्य आयेगा कहा तो था, हम मूरख पूरी बात समझे नहीं,
    अभी विपक्ष के उम्मीदवारों को या तो गुड़ दिखाकर अपनी ओर कर लिया गया या छड़ी दिखाकर नामांकन रद्द करवा दिये गये – अगली बार देखियेगा,
    अश्वमेध यज्ञ कर घोड़ा छोड़ दिया जाएगा.. और पूर्ण राम राज्य आ जाएगा, मतलब राम जी मंदिर में – योगी जी गद्दी पर – और खड़ाऊं हमारे सिर पर…

    Reply
    • July 14, 2021 at 1:17 pm
      Permalink

      आपने अपना अमूल्य समय निकालकर विचार रखे इसके लिए आपका धन्यवाद..आप जब भी वेबसाइट खोलते हैं..तो एक नोटिफिकेशन आता है उसे अलाउ जरूर कीजिए इससे समय पर हमारे आर्टिकल के नोटिफिकेशन आपको मिल जाएंगे..

      Reply
  • July 3, 2021 at 4:45 pm
    Permalink

    I’m sumit kumar journalism student from Delhi university.
    Didi mujhe aapka yk interview chahiye, please dubara kr rha hu🙏
    Mo 7492859897

    Reply
    • July 14, 2021 at 1:16 pm
      Permalink

      आपने अपना अमूल्य समय निकालकर विचार रखे इसके लिए आपका धन्यवाद..आप जब भी वेबसाइट खोलते हैं..तो एक नोटिफिकेशन आता है उसे अलाउ जरूर कीजिए इससे समय पर हमारे आर्टिकल के नोटिफिकेशन आपको मिल जाएंगे..

      Reply
  • July 4, 2021 at 10:45 am
    Permalink

    @PragyaLive

    I am big fan of your anchoring, the way you present the hidden issue smartly,

    One request to you, please listen one time the problem of workers of ORDANACE factory , which govt has decided to make corporation.
    Atleast 78000 employee of 200 yrs organization affect.

    Reply
  • July 8, 2021 at 4:08 pm
    Permalink

    मैम आपकी हर ब्लाक बहुत ही अच्छा होता है। दुआ है भगवान आपको सलामत रखें । ध्यनवाद !

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *