1 सितंबर से बदल जायेंगे ये नियम, आपकी जेब पर पड़ेगा भारी असर, पढ़ें- नए नियम

कोरोना के प्रकोप के बीच कई सारे नए नियम लागू किए गए थे, लम्बे समय तक पूरे देश में सम्पूर्ण लॉकडाउन हुआ. जिनमें अब धीरे-धीरे बदलाव हो रहा है. 1 सितंबर से देश में और भी कुछ चीजें बदलने वाली हैं. योगी सरकार ने भी अनलॉक-4 की गाइडलाइन जारी कर दी है.

up yogi government unlock-4 notification
up yogi government unlock-4 notification

देश में 1 सितंबर से लॉकडाउन में छूट का चौथा चरण अनलॉक-4 शुरू हो रहा है. 1 सितंबर को एलपीजी के दाम में बदलाव हो सकता है. हर महीने की पहली तारीख को सिलेंडर की कीमतों में बदलाव होता है. माना जा रहा है कि इस बार LPG, CNG और PNG के दामों में भारी गिरावट हो सकती है.

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 1 सितंबर से घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए यात्रियों से उच्च विमानन सुरक्षा शुल्क (ASF) वसूलने का फैसला किया है. जिसमें घरेलू यात्रियों से अब 150 के बजाए 160 रुपए वसूला जाएगा, वहीं अंतरराष्ट्रीय यात्रियों से 4.85 डॉलर के बदले 5.2 डॉलर वसूला जाएगा.

लोन ग्राहकों की EMI पर इस वर्ष मार्च में जो रोक लगी थी, वह 31 अगस्त को समाप्त हो रही है. बैंक इसे आगे बढ़ाना नहीं चाहते, ऐसे में एक सितंबर से EMI चुकाने वाले ग्राहकों की जेब पर अब ईएमआई भारी पड़ सकती है. ऐसे में इसकी भरपाई गोल्ड लोन के जरिये होने की उम्मीद है. इससे आने वाले दिनों में गोल्ड लोन की मांग बढ़ेगी. आरबीआई ने 31 मार्च 2021 तक सोने की कीमत का 90 फीसदी तक कर्ज लेने की अनुमति भी दी है.

उत्तर प्रदेश में हर सप्ताह शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 5 बजे तक चलने वाली वीकेंड बंदी जारी रहेगी. आवश्यक सेवाओं को छोड़कर, बाजार, दुकान, मॉल, दफ्तर आदि पहले की तरह बंद रहेंगे. कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन 30 सितंबर तक जारी रहेगा.

सितंबर में भी सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल और थिएटर बंद रहेंगे. अंतिम संस्कार में 20 और शादी में 30 लोगों तक ही भागीदारी की व्यवस्था 20 सितंबर तक जारी रहेगी. 21 सितंबर से सारे सामाजिक, अकादमिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक राजनीतिक कार्यक्रमों में 100 लोगों के शामिल होने की अनुमति होगी.

राज्य के अंदर या बाहर लोगों के आने-जाने के अलावा मालवाहक सेवाओं पर भी किसी तरह की रोक नहीं रहेगी. इसके लिए अलग से किसी पास की जरूरत नहीं पड़ेगी. लखनऊ में भी सात सितंबर से मेट्रो संचालन के लिए प्रदेश सरकार की हरी झंडी मिल गई है.

21 सितंबर से स्कूलों में 50% टीचिंग-नॉन टीचिंग स्टाफ बुलाया जा सकेगा. अभिभावकों की सहमति से कंटेनमेंट जोन के बाहर कक्षा 9 से 12वीं तक के छात्र स्वैच्छिक आधार पर बुलाए जा सकेंगे. कौशल संस्थानों, आईटीआई, व्यावसायिक प्रशिक्षण संस्थाओं में ट्रेनिंग शुरू हो सकेगी. उच्च शिक्षा और गृह विभाग की सहमति के बाद पीएचडी स्कॉलर्स और लैब वर्क वाले पीजी छात्र बुलाए जा सकेंगे.

ओपन एयर थिएटर खुल सकेंगे. 65 वर्ष से अधिक आयु के लोगों, 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती महिलाओं, बीमारियों से ग्रसित लोगों को आपात परिस्थितियों को छोड़कर घर के भीतर ही रहने को कहा गया है. अनलॉक-4 के तहत कन्टेनमेंट जोन में डीएम अब स्थानीय स्तर पर लॉकडाउन नहीं लगा सकेंगे.

एक सितंबर से सिकंदरा, फतेहपुर सीकरी, एत्माउ्ददौला जैसे संरक्षित स्मारक पर्यटकों के लिए खुल जाएंगे. लेकिन ताजमहल और आगरा किला के दीदार को अभी इंतजार करना पड़ेगा. जो स्मारक खुलेंगे, उनमें भी पर्यटक सशर्त ही घूम सकेंगे. ये स्मारक निर्धारित समय पर खोले और बंद किए जाएंगे.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *