रिक्शे से अपराधियों का पीछा कर रही है यूपी पुलिस..ये फिल्म नहीं असलियत है…तस्वीरें देखिए

भगवान कसम उत्तर प्रदेश की पुलिस की ऐसे दुर्दिन पहले कभी नहीं देखे थे. ये दिव्य दर्शन यूपी पुलिस के इतिहास में पहली बार हो रहे हैं. उत्तर प्रदेश के पुलिस इतिहास में डीजीपी ओपी सिंह का कार्यकाल सबसे बुरा कार्यकाल साबित हो रहा है. ओपी जी ने जब से यूपी पुलिस की कमान संभाली है तब से यूपी पुलिस बेकाबू  भी हुई बदनाम भी और बेबस भी. कभी फर्जी एनकाउंटर के आरोप. कभी सरेराह विवेक तिवारी कांड.
रिक्शे अपराधी का पाीछा करते यूपी पुलिस के 'दरोगा' जी
रिक्शे अपराधी का पाीछा करते यूपी पुलिस के ‘दरोगा’ जी

 

बिल्कुल कन्फ्यूज मत होइये ये किसी फिल्म की शूटिंग की तस्वीरें नहीं हैं. यूपी पुलिस का क्या हाल हो चुका है. कंधे पर सितारे चमक रहे हैं. लेकिन खुद के सितारे माटी फांक रहे हैं मतलब नाम के बड़े दर्शन  के छोटे. जितने रूपए गुंडे बदमाश पान मसाला खाकर थूक देते हैं. पुलिस वालों को उतना भत्ता मिलता है. एक पुलिसवाले से बातचीत में Ultachasmauc.com को बताया कि उनको आज भी साईकिल भत्ता दिया जा रहा है वो भी करीब 100 से 150 रूपए के बीच.

इलाके की कानून व्यवस्था का मुआयना साइकिल से करते दरोगा जी
इलाके की कानून व्यवस्था का मुआयना साइकिल से करते दरोगा जी

 

-----

कभी यूपी पुलिस दबंग हुआ करती थी लेकिन अाज बकरी के बच्चे की तरह में-में कर रही है. कोई काली पट्टी बांधे घूम रहा है. कोई साइकिल चला रहा है. कोई रिक्शा खींच रहा है. कोई हेलमेट के साथ चाचा चौधरी बना घूम रहा है. कोई अनुशासन नहीं कोई मर्यादा नहीं. लगता ही नहीं कि यूपी में पुलिस  का कोई माईबाप भी है

-----

 

जब सफर में मिल गए साइकिल वाले दो दरोगा तो गम किया साझा
जब सफर में मिल गए साइकिल वाले दो दरोगा तो गम किया साझा

 

ये देखिए कंधे पर दो स्टार लेकिन लग रहा है किसी सरकस से आ रहे हैं. ये यूपी पुलिस वाले हैं. ये दरोगा जी हैं. इनसे ज्यादा हैसियत इलाके के पॉकेटमार की मेनटेन होगी. वो भी स्पेलेंडर की शानदार सवारी करता होगा. अब जब वो भागता है तो दरोगा जी रिक्शे से उनको दौड़ाते हैं. यूपी पुलिस को आज भी साईकिल भत्ता दिया जा रहा है. तो पुलिस वालों की भी बात ठीक है. अगर भत्ता साईकिल की उतरी हुई चेन सही कराने के लिए मिलता है. कटोरी छर्रा पैडल और रिम सीधा कराने का मिलता है तो फिर बाइक में 80 रूपए लीटर का पेट्रोल क्यों फूंकें.

 साईकिल चलाने को मजबूर पुलिवालों की हकीकत जानने के लिए और सबूत देखने के लिए नीचे क्लिक करिए…

योगी राज की हाईटेक पुलिस साइकिल से चलने को मजबूर हो गई…दर्द भरी दास्तान तस्वीरों में देखिए..

 

-----

आरोपी को अंगौछे में बांधकर साइकिल से गिरफ्तार करके ले जाती यूपी की पुलिस

आरोपी को अंगौछे में बांधकर साइकिल से गिरफ्तार करके ले जाती यूपी की पुलिस, ये तो कुछ नहीं है फोटो मे तो सिर्फ इतना ही आया है आगे की कहानी हमें                   पुलिसवाले भइया फोन करके बता चुके हैं वो हम यहां लिक देंगे तो कइयों की कुर्सी चली जाएगी.

 

यूपी पुलिस को ऊर्जा से ओतप्रोत करता जवान

 

(इस रिपोर्ट में हमने किसी भी पुलिसवाले का नाम नहीं लिखा है और ना ही किसी के थाने का जिक्र किया है..सिपाहियों का दर्द समझिए ना कि उनपर हंटर चलाइये)

मुंह से ठांय ठांय की आवाज निकालकर एनकाउंटर करती यूपी पुलिस नीचे क्लिक करे वीडियो देखिए..

पिस्तौल नहीं चली तो मुंह से ठांय की आवाज निकालकर एनकाउंटर करती है यूपी पुलिस, देखें वीडियो:-