जन्माष्टमी, गणेश चतुर्थी और मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी, सभी जुलूस पर रोक, पढ़ें नए नियम

उत्तर प्रदेश में बेकाबू हो रहे कोरोना वायरस के संक्रमण पर अंकुश लगाने के लिए योगी सरकार ने जन्माष्टमी, गणेश चतुर्थी और मुहर्रम के मौकों पर कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के निर्देश दिए हैं. और गाइडलाइन जारी कर दी है.

up government issued new guidelines for janmastami ganesh chaturthi and muharram
up government issued new guidelines for janmastami ganesh chaturthi and muharram

यूपी सरकार ने त्योहारों में जुलूस निकालने पर पाबंदी लगाई है. और कोविड संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए धर्मगुरुओं से भी अपील की है कि वो लोगों को समझाएं. गाइडलाइंस के अनुसार, गणेश चतुर्थी पर पूजा पंडाल में मूर्ति की स्थापना नहीं की जाएगी और न ही शोभा यात्रा निकाली जाएगी. उसी तरह मुहर्रम के दौरान जुलूस निकालने पर भी रोक लगा दी गई है. सरकार ने धार्मिक स्थलों पर भीड़ न जमा होने के निर्देश दिए हैं.

-----

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा है कि प्रशासन व पुलिस के अधिकारी पीस कमेटी की बैठकें करें और व्यवस्था बनाए रखने के लिए धर्म गुरुओं का भी पूरा सहयोग लें. संवेदनशील व कंटेनमेंट जोन में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती किए जाने के साथ ही सघन चेकिंग कराई जाए. खासकर सोशल मीडिया की कड़ी मानीटरिंग की जाए और माहौल बिगाड़ने की साजिश करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई सुनिश्चत की जाए.

त्योहारों पर सार्वजनिक स्थल यथा बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन और संवेदनशील स्थान/ धार्मिक स्थल पर यथावश्यक व्यवस्थायें चेकिंग कराई जाए. सघन जांच एवं तलाशी की व्यवस्था के लिए स्वान-दल, आतंकवादी निरोधक दस्ता एवं बम निरोधक दल की तैनाती सुनिश्चित की जाए. ये भी सुनिश्चित किया जाए कि यातायात कदापि बाधित न हो एवं बेरियर एवं पुलिस चेक पोस्ट लगाकर संदिग्ध वाहनो की चेकिंग कराई जाए. मोटर वाहन अधिनियम के नियमों का पालन सख्ती से किया जाए.

जन सुविधाएं यथा बिजली, पेयजल एवं साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए. आकस्मिकता के दृष्टिगत सभी सरकारी अस्पतालों को तैयारी हालत में रखा जाए एवं डॉक्टर और पैरा-मेडिकल स्टॉफ की ड्यूटी राउण्ड द क्लॉक लगायी जाए.

आसामाजिक तत्वों एवं अफवाह फैलाने वालों पर विशेष ध्यान दिया जाए. सोशल मीडिया की राउण्ड द क्लॉक मॉनिटरिंग की जाए एवं कोई भी आपत्तिजनक पोस्ट संज्ञान में आते ही तत्काल ब्लाक करते हुए प्रभावी कार्यवाही की जाए. धारा-144 लगाते हुए कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाए. सार्वजनिक स्थानों पर किसी भी दशा में शस्त्रों का प्रदर्शन न हो एवं अवैध शस्त्रों को लेकर चलने वालों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाए.

ये भी सुनिश्चित किया जाए कि महिलाओं से छेड़खानी आदि की घटनायें न हो. इसके लिए पर्याप्त संख्या में सादी वर्दी में पुरूष एवं महिला पुलिस कर्मियों की तैनाती की जाए. मजिस्ट्रेट/पुलिस ऑफिसर एवं अभिसूचना से सम्बन्धित अधिकारियों को त्योहार से एक दिन पूर्व ही ब्रीफिंग कर उपरोक्त दिशा-निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए.

जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक ये सुनिश्चित करें कि उक्त त्योहारों पर सामाजिक/साम्प्रदायिक सौहार्द बना रहे एवं सुरक्षा व्यवस्था इस तरह सुनिश्चित की जाए कि किसी भी प्रकार की कानून-व्यवस्था की समस्या उत्पन्न न होने पाए.