crossorigin="anonymous"> UP में प्रवासी मजदूरों के लिए जारी हुआ प्रोटोकॉल, दिए ये निर्देश, प्रवासियों से भी अपील

UP में प्रवासी मजदूरों के लिए जारी हुआ प्रोटोकॉल, दिए ये निर्देश, प्रवासियों से भी अपील

कोरोना को विकराल होता देख लोगों के मन में लॉकडाउन की आशंका उठने लगी है ऐसे में बाहर काम करने गए प्रवासी मजदूर फिर से अपने घर लौटने लगे हैं. मजदूरों की वापसी को लेकर यूपी सरकार ने मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं.

up govt issued covid protocol for migrants workers

युद्धस्‍तर पर कार्य करने के निर्देश

पत्र में सभी जनपदों में प्रवासी मजदूरों की RTPCR जांच कराने और चिकित्‍सीय सेवाएं उपलब्‍ध कराने के लिए विशेष रणनीति के तहत युद्धस्‍तर पर कार्य करने के निर्देश दिए हैं. प्रवासियों के आगमन पर जिला प्रशासन के द्वारा उनकी स्क्रीनिंग करवाई जाए और किसी प्रकार के लक्षण आने पर उन्हें क्वारंटीन किया जाए. वहीं, जांच में संक्रमित पाए जाने पर उसे कोविड अस्पताल या घर पर आइसोलेट किया जाए. जो लक्षण वाले संक्रमित पाए जाते हैं, उन्हें 14 दिनों के लिए होम क्वारंटीन में भेजा जाएगा. लक्षणविहीन लोग 7 दिनों  तक होम क्वारंटीन में रहेंगे.

प्रत्येक प्रवासी का संपूर्ण विवरण नोट होगा

इसके साथ ही जिले के क्वारंटीन स्थल पर पहुंचने पर प्रत्येक प्रवासी व्यक्ति के नाम, पता और मोबाइल नंबर के साथ संपूर्ण विवरण का एक रजिस्टर तैयार किया जाए. इस रजिस्टर में क्वारंटीन सेंटर पहुंचने वाले और क्वारंटीन सेंटर से घर भेजे जाने वाले प्रत्येक व्यक्ति का पूरा विवरण मौजूद हो. रजिस्टर पर प्रवासियों के हस्ताक्षर भी मौजूद हों. वहीं प्रवासियों से भी कहा गया है कि क्वारंटीन के दौरान वे भी सावधानियां बरतेंगे और अपने घर के अलग कमरे में रहेंगे और मास्क या फिर गमछे का प्रयोग करेंगे.

कम पड़ने लगी हैं ट्रेनें

लॉकडाउन की आशंका के बीच गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली समेत कई अन्य राज्यों के प्रवासी कामगारों के पलायन करने का सिलसिला जारी है. रेलवे ने जो ट्रेनें चलाई हैं, वो भी कम पड़ने लगी हैं. लोग रिजर्व श्रेणी के कोच में भी बिना रिजर्वेशन के आ रहे हैं. भीड़ इतनी ज्यादा है कि लोग ट्रेन के अंदर जाने के लिए खिड़की से भी लटक कर अंदर जा रहे हैं. इतनी भीड़ देखकर टीटीई भी टिकट चेकिंग करने नहीं आ रहे हैं.

UP में 20 हज़ार का आंकड़ा पार

उत्तर प्रदेश में बुधवार को कोरोना के 20,510 नए मामले सामने आए हैं. जिसमें अकेले लखनऊ में 5,433 संक्रमण के केस आए हैं. पिछले 24 घंटे में प्रदेश में 68 लोगों की मृत्यु हो गई है. राज्य में अभी भी 1,11,835 एक्टिव केस हैं. बतादें कि बहराइच, श्रावस्ती, कानपुर, गोरखपुर, गौतम बौद्ध नगर, इलाहाबाद, मेरठ, गाजियाबाद, बरेली, मुजफ्फरनगर जिलों और लखनऊ नगर निगम क्षेत्र में नाइट कर्फ्यू लगाया जा चुका है.