उन्नाव रेप और अपहरण मामले में कुलदीप सेंगर दोषी करार, लगीं ये धाराएं, आज होगी सजा पर बहस

उन्नाव में नाबालिग के रेप और अपहरण के आरोपी कुलदीप सेंगर को तीस हजारी कोर्ट ने दोषी करार दे दिया है. सेंगर के साथ उसकी सहयोगी शशि शिंह को कोर्ट ने आरोप तय नहीं होने के कारण बरी कर दिया है.

unnao rape scandal decision against former bjp mla kuldeep sengar
unnao rape scandal decision against former bjp mla kuldeep sengar

कोर्ट ने चार्जशीट में देरी करने पर सीबीआई को फटकार लगाई. सेंगर को 120बी(आपराधिक षड्यंत्र), 363(अपहरण), 366(अपहरण एवं महिला पर विवाह के लिए दबाव डालना), 376(दुष्कर्म) और पॉक्‍सो एक्‍ट की 5C और 6 के तहत दोषी करार दिया गया है. दोषी करार दिए जाने के बाद सेंगर कोर्ट में ही फूट-फूट कर रोने लगा. सुनवाई के दौरान सेंगर के साथ उनकी बहन भी वहीं पर मौजूद थी. बहन ने उसे दिलासा दिया.

सेंगर का काला इतिहास कैसा रहा है ? वो भी देखिए-

21 साल की उम्र में पहली बार ग्राम प्रधान का चुनाव लड़ा
सेंगर के नाना बाबू सिंह राजनीति में थे
सेंगर पहली बार बसपा के टिकट पर 2002 में विधायक बना
बसपा से निकाला गया तो 2012 में सपा से जीत गया
सपा से निकाला गया तो बीजेपी के टिकट पर 2017 में बांगरमऊ से जीत गया

उन्नाव में सेंगर के तांडव का अंत हो चुका है. पाप का घड़ा कोर्ट के भीतर फूट चुका है. आरोप है कि सेंगर ने सुबूत मिटाने के लिए ऐसे ऐसे शडयंत्र रचे जिससे किसी की भी आत्मा कांप उठे. सेंगर के कारण पीड़िता के परिवार पर हमेशा मौत का साया मंडराता रहा. और एक के बाद एक करके कई मौते हो गईं.

पहले लड़की के ताऊ की मौत हुई.
फिर पिता की मौत हुई.
फिर पीड़ित का एक्सीडेंट हो गया.
हादसे में चाची और मौसी की मौत हो गई.

सेंगर कांड में अब तक 4 लोगों की मौत हो चुकी है. सेंगर के खिलाफ रेप और अपहरण के मामले में तीस हजारी कोर्ट में सुनवाई चल रही थी. सेंगर पर अभी 3 और मामले दिल्ली की विशेष सीबीआई कोर्ट में चल रहे हैं.

कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि पीड़िता वारदात के समय नाबालिग थी और उसके साथ सेक्सुअल असॉल्ट हुआ. वो डरी हुई थी, उसे लगातार धमकियां दी जा रही थीं. उसके परिवार को जान का खतरा था. कोर्ट ने कहा कि वो एक पावरफुल पर्सन से लड़ रही थी और इसी के चलते पीड़ित परिवार पर फर्जी केस भी लगाए गए.

951 total views, 1 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *