अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित हुआ ‘मसूद अजहर’, मोदी बोले- जहां से खतरा होगा घुस के मारेंगे

भारत में संसद, पठानकोट और पुलवामा जैसे हमलों को अंजाम देने वाले आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित कर दिया गया है.

united nations is declare masood azhar a global terrorist
united nations is declare masood azhar a global terrorist

मसूद अजहर के वैश्विक आतंकवादी घोषित होते ही पाकिस्तान ने कहा कि वो संयुक्त राष्ट्र के मसूद पर लगाए गए प्रतिबंधों को तत्काल लागू करेगा. मगर पाकिस्तान ने इस बैन पर भारत की जीत होने से इनकार कर दिया. पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि पाकिस्तान का मानना है कि आतंकवाद पूरी दुनिया के लिए खतरा है.

-----

मसूद अजहर के खिलाफ पहले के प्रस्तावों में आम सहमति नहीं बन सकी थी क्योंकि वे तकनीकी पहलुओं पर खरे नहीं उतरे थे. पाकिस्तान ने हमेशा ही इन तकनीकी नियमों का सम्मान करने की जरूरत पर बल दिया है और समिति के राजनीतिकरण का विरोध किया है.

पिछले एक दशक से अजहर के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र की तरफ से प्रतिबंध घोषित करवाने मे जुटे भारत की कूटनीतिक कोशिशों को बुधवार को सफलता तब मिली जब चीन ने अपना वीटो पावर हटा कर इसका समर्थन कर दिया. पीएम मोदी ने इसे भारत की एक बड़ी जीत बताते हुए कहा है कि इससे आतंकवाद को जड़ से मिटाने में मदद मिलेगी. ये तो शुरुआत है, आगे देखिए क्या होता है.

आज कोई भारत की आवाज की उपेक्षा नहीं कर सकता है. भारत की दहाड़ आज पूरी दुनिया में गूंज रही है. देश को जहां पर से भी खतरा होगा वहां पर घुसकर के मारेंगे और अगर वे गोली मारेंगे तो हम गोला मारेंगे.

इस समिति के तहत घोषित आतंकियों को किसी भी देश में शरण देना ना सिर्फ मुश्किल होता है बल्कि उसके लिए फंड जुटाना भी मुश्किल हो जाता है. साथ ही मसूद अजहर के नाम से जुड़े हर बैंक खाते और संपत्तियों को जब्त कर लिया जाएगा. उस व्यक्ति और उससे जुड़े हर तरह के संगठन की कड़ी निगरानी की जाती है और उनके बारे में संयुक्त राष्ट्र के तमाम देशों के साथ सूचनाएं भी साझा करनी पड़ती है.

घोषित किये हुए आतंकी पर विश्व के किसी भी देश में आने-जाने पर प्रतिबंध लग जाता है. इसके अलावा वो जिस देश में है उसमें भी स्वतंत्र रूप से यात्रा नहीं कर सकता है.