घबराने की जरूरत नहीं, बुरा समय टल गया, जनवरी में वैक्सीनेशन शुरू होगा: हर्षवर्धन

ब्रिटेन में मिले कोरोनावायरस के नए स्ट्रैन को लेकर दुनिया फिर घबराने लगी है. लेकिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा है कि घबराने की जरूरत नहीं है. सरकार इसके बारे में अलर्ट है.

union health minister dr harsh vardhan said india highest recovery rate
union health minister dr harsh vardhan said india highest recovery rate

ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन VUI-202012/01 मिला है जिसे बहुत संक्रामक बताया जा रहा है. कई देशों ने ब्रिटेन जाने वाली फ्लाइट्स पहले ही बंद कर दी हैं. इसको देखते हुए सऊदी अरब सरकार ने इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर एक हफ्ते का प्रतिबंध लगा दिया है. सऊदी ने अपनी सीमाएं भी एक हफ्ते के लिए सील कर दी हैं.

दुनिया में कोरोना के 7 करोड़ 71 लाख 69 हजार 359 केस हो चुके हैं. अच्छी बात ये है कि 5 करोड़ 40 लाख 88 हजार 483 लोग ठीक हो चुके हैं. अब तक महामारी से 16 लाख 99 हजार 560 लोगों की मौत हो चुकी है. भारत की स्थिति काफी बेहतर है यहाँ अब तक कोरोना संक्रमण के 1 करोड़ 56 हजार केस आ चुके हैं. इनमें से 96 लाख 5 हजार मरीज ठीक हो चुके हैं. 1 लाख 45 हजार लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 3 लाख 2 हजार मरीजों का इलाज चल रहा है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा है कि हमारे यहां दुनिया के विकसित देशों के मुकाबले कोरोना रिकवरी रेट सबसे अधिक है.अमेरिका, रूस और ब्राजील जैसे दुनिया के कुछ विकसित देशों की तुलना में, जहां रिकवरी रेट 60 से 80 प्रतिशत के बीच है, इसे देखकर पता चलता है कि हम बेहतर स्थान पर हैं. मुझे लगता है कि बुरा वक्त शायद खत्म हो गया है लेकिन अभी भी सावधानी की जरूरत है. कोरोना के खिलाफ मुख्य हथियार मास्क, हाथों को साफ करना और शारीरिक दूरी ही है, जिसका हम सभी को पालन करने की जरूरत है.

भारत में जनवरी से कोरोना वायरस के खिलाफ लोगों का टीकाकरण शुरू हो सकता है और सरकार की पहली प्राथमिकता वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभावकारिता है. कोरोना वायरस के बारे में ज्यादा सोचना सबसे बुरा है, लेकिन लोगों को सुरक्षित रहने के लिए कोविड को लेकर बनाए गए नियमों का पालन करना होगा. हर्षवर्धन ने कहा, ‘मुझे निजी तौर पर लगता है कि जनवरी के किसी हफ्ते में वैक्सीन का पहला डोज दे दिया जाएगा. हम इस स्थिति में पहुंच चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *