राफेल, सबरीमाला और राहुल गांधी मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फ़ाइनल फैसला, राहुल को मिली बड़ी चेतावनी

सुप्रीम कोर्ट ने आज 3 बड़े फैसलों पर सुनवाई की है. जिसमें दो पर अपना आखिरी फैसला सुना दिया है और एक इस फैसले को सात जजों की बड़ी पीठ के ऊपर छोड़ दिया है.

supreme courts verdict on rafale deal rahul gandhi sabarimala temple case
supreme courts verdict on rafale deal rahul gandhi sabarimala temple case

सुप्रीम कोर्ट ने आज राफेल मामले, राहुल पर मानहानि का केस और सबरीमाला मंदिर पर सुनवाई की है. सुप्रीम कोर्ट के राफेल मामले पर मोदी सरकार को क्लीन चिट दे दी है. और राफेल मामले में दायर पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया है. कोर्ट ने साफ़ कह दिया है कि हमें इस मामले में एफआईआर का आदेश देने या जांच बैठाने की जरूरत महसूस नहीं हुई है. इस मामले में अलग से जांच की जरूरत नहीं है.

कोर्ट का फैसला आते ही बीजेपी नेता रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि ये मोदी सरकार की ईमानदारी से परिपूर्ण निर्णय प्रक्रिया का सम्मान है. सत्यमेव जयते. कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी को देश से इस मामले में माफी मांगनी चाहिए. राफेल की गुणवत्ता के बारे में किसी को शंका नहीं है.

सुप्रीम कोर्ट ने दूसरा फैसला राहुल गांधी के चौकीदार चोर है वाले बयान के खिलाफ दर्ज अवमानना मामले पर किया है. कोर्ट ने अवमानना मामले को खत्म करके राहुल की माफी स्वीकार कर ली है. साथ ही कहा है की ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि राहुल ने बिना परखे ऐसा बयान दिया, जिससे लगा कि कोर्ट ने कुछ गलत टिप्पणी की है. सुप्रीम कोर्ट ने साफ़ कहा है कि आप आगे से सावधान रहिए. आपने माफी मांगी है इसलिए आपको हम छोड़ रहे हैं. कोर्ट ने चेतावनी देते हुए कहा की कोर्ट को राजनीतिक बहस में नहीं घसीटा जाना चाहिए, फिर चाहे बयान वैध हो या अवैध.

सुप्रीम कोर्ट ने अपना तीसरा मामला भारत के दक्षिण भारतीय राज्य केरल स्थित सबरीमाला अय्यपा मंदिर में सभी उम्र की महिलाओं के प्रवेश पर सुनाया. कोर्ट ने अपने 28 सितंबर 2018 को सुनाये गए फैसले को बरकरार रखते हुए इसे सात जजों वाली बड़ी पीठ को भेज दिया है. यानि अब जब तक बड़ी पीठ इस मामले में सुनवाई नहीं करेगी तब तक स्थिति ऐसी ही बनी रहेगी.

2,127 total views, 1 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *