अयोध्या मामले पर फैसला आज, सोमवार तक सभी स्कूल-कॉलेज बंद, UP में धारा 144 लागू

अयोध्या विवाद पर ऐतिहासिक फैसला आज सुबह 10.30 बजे आएगा. सुप्रीम कोर्ट अपना निर्णय फैसला सुनाएगी. सभी की निगाहें फैसले पर टिकी हुई हैं. मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई समेत पांच जजों की पीठ ये फैसला सुनाएगी.

supreme court verdict on ayodhya land case 9th nov
supreme court verdict on ayodhya land case 9th nov

सालों से चला आ रहा इंतजार आज खत्म होने जा रहा है. वहीं लोगों की सुरक्षा को देखते हुए योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश में सभी स्कूलों, कॉलेजों, शैक्षणिक संस्थानों और प्रशिक्षण केंद्रों को आज शनिवार से सोमवार तक बंद करने का आदेश दिया है. आज शनिवार को छुट्टी होने के बावजूद सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ बैठेगी और फैसला सुनाएगी. इसके साथ ही पूरे देश में सुरक्षा के चाक चौबंद प्रबंध किए गए हैं. धर्मगुरुओं ने भी शांति बनाए रखने की अपील की है.

उत्तर प्रदेश में धारा 144 लागू कर दी गई है. डीजीपी ओपी सिंह समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर सभी जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं. अयोध्या समेत सभी संवेदनशील जिलों में अधिकारियों को सुरक्षा संबंधी सारे इंतजाम चौकस रखने को कहा गया है और सभी जिलों में किसी तरह की अप्रिय घटना न होने देने की ताकीद की गई है.

अयोध्या मामले की सुनवाई करने वाली पांच सदस्यीय पीठ में शामिल सभी जजों की सुरक्षा बढ़ाई गई है. संविधान पीठ में जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस डीवाई चद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस. अब्दुल नजीर भी शामिल हैं.

सीएम योगी ने जनता से अपील करते हुए कहा की मा. उच्चतम न्यायालय द्वारा अयोध्या प्रकरण के सम्बन्ध में दिए जाने वाले सम्भावित फैसले के दृष्टिगत प्रदेशवासियों से अपील है कि आने वाले फैसले को जीत-हार के साथ जोड़कर न देखा जाए. ये हम सभी की जिम्मेदारी है कि प्रदेश में शांतिपूर्ण और सौहार्दपूर्ण वातावरण को हर हाल में बनाए रखें. अफवाहों पर ध्यान न दें. प्रशासन सभी की सुरक्षा और प्रदेश में कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पूरी तरह कटिबद्ध है. कोई भी व्यक्ति अगर कानून व्यवस्था के साथ खिलवाड़ करने की कोशिश करेगा, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

वहीं प्रधानमंत्री ने भी कहा है कि अयोध्या पर कल सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आ रहा है. पिछले कुछ महीनों से सुप्रीम कोर्ट में निरंतर इस विषय पर सुनवाई हो रही थी, पूरा देश उत्सुकता से देख रहा था. इस दौरान समाज के सभी वर्गों की तरफ से सद्भावना का वातावरण बनाए रखने के लिए किए गए प्रयास बहुत सराहनीय हैं. कोर्ट के निर्णय के बाद भी हम सबको मिलकर सौहार्द बनाए रखना है. अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, वो किसी की हार-जीत नहीं होगा. देशवासियों से मेरी अपील है कि हम सब की ये प्राथमिकता रहे कि ये फैसला भारत की शांति, एकता और सद्भावना की महान परंपरा को और बल दे.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *