इंडोनेशिया की भयंकर सुनामी में अबतक 373 की मौत, फिर मंडराया ख़तरा

Ulta Chasma Uc  :  इंडोनेशिया की सुंदा खाड़ी में एकाएक ऐसी सुनामी आई जिसमें सैकड़ों लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. मरने वालों की संख्या अबतक 373 हो चुकी है. किसी को बचने का मौका ही नहीं मिला पाया. ये घटना शनिवार देर रात की है. जबतक ही कोई भागता तबतक सुनामी लोगों पर हावी हो है. हर तरफ चीख़ पुकार मच गई. इस भयंकर सुनामी में 1000 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं.

sunami in indonesia many people killed and injured
sunami in indonesia many people killed and injured
आपदा विभाग ने दी जानकारी

तबाही के बाद आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारियों ने जानकारी दी की, शनिवार देर रात अचानक ‘क्राकातोआ’ ज्वालामुखी फट गया. उसके बाद समुद्र के नीचे भूस्खलन हो गया. भूस्खलन से समुद्र की लहरें इतनी ऊपर उठी की उसने आस पास के तटीय इलाकों को अपनी चपेट में ले लिया. इसके साथ ही वहां मौजूद कई इमारतें भी तबाह हो गईं.

2004 में आई थी बड़ी सुनामी

इंडोनेशिया में जावा और सुमात्रा दो द्वीप हैं इन्ही द्वीपों के बीच में है सुंदा खाड़ी. जो जावा समुद्र को हिंद महासागर से जोड़ती है. इंडोनेशिया ऐसा देश है जहां सबसे ज्यादा प्राकृतिक आपदा आतीं हैं. साल 2004 में इंडोनेशिया में ऐसी क़यामत आई थी की मानों सब ख़त्म हो जाएगा. तब इंडोनेशिया के सुमात्रा में 9.3 तीव्रता का भूकंप आया था. इसके बाद ऐसी भयानक और भयंकर सुनामी आई जिसमें भारत समेत 14 देश इसकी चपेट में आ गए थे. इस सुनामी से दुनियाभर में करीब 2.20 लाख लोगों की जान चली गई थी. इनमें 1.68 लाख लोग तो सिर्फ इंडोनेशिया के ही थे.

1883 में ज्वालामुखी अस्तित्व में आया

इंडोनेशिया के आपदा प्रबंधन विभाग के प्रवक्ता सुतोपो पुरवो नुग्रोहो के मुताबिक, “जियोलॉजिकल एजेंसी सुनामी की वजहों का पता लगाने में जुट गई है. मौतों का आंकड़ा और घायलों की संख्या अभी बढ़ सकती है” क्राकातोआ एक छोटा ज्वालामुखी द्वीप है. जो 1883 में ज्वालामुखी के फटने के बाद अस्तित्व में आया था.

सितंबर में 832 लोगों की मौत

इसी साल सितंबर में इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप स्थित पालु और दोंगला शहर में भूकंप के बाद सुनामी आने से 832 लोगों की मौत हो गई थी. और हजारों लोग घायल हुए थे.

जुलाई में सैकड़ों लोगों की मौत

इसी साल जुलाई में भी इंडोनेशिया में एक हफ्ते में भूकंप के दो झटके आए थे. इनमें सैकड़ों लोगों की मौत हो गई थी. इंडोनेशिया ‘रिंग ऑफ फायर’ पर बसा हुआ है. जिसकी धरती के अंदर मौजूद टेक्टॉनिक प्लेट्स आपस में टकराती रहती हैं. जिससे भूकंप और ज्वालामुखी विस्फोट की घटनाएं ज्यादा होती हैं.

इंग्लैंड की पोर्ट्समाउथ यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रिचर्ड टियू ने दोबारा सुनामी आने के संकेत दिए हैं. उनके अनुसार, क्राकातोआ ज्वालामुखी अभी भी भड़क रहा है, जिससे किसी भी वक्त समुद्र तल पर फिर से भूस्खलन की स्थिति पैदा हो सकती है.

Web Title : sunami in indonesia many people killed and injured

HINDI NEWS से जुड़े अपडेट और व्यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ FACEBOOK और TWITTER हैंडल के अलावा GOOGLE+ पर जुड़ें.