भतीजे अखिलेश से हाथ मिलाने को तैयार चाचा शिवपाल, कर दिया ऐलान

Ulta Chasma Uc  :   अखिलेश यादव और चाचा शिवपाल सिंह यादव के बीच चल रही रस्साकस्सी के बीच शिवपाल यादव ने अखिलेश से हाथ मिलाने के लिए हामी भरने के दावे ने सबको हैरान कर दिया है. जब से बीजेपी ने प्रसपा (लोहिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव को मायावती का बंगला आवंटित किया है तब से उनपर आरोप लग रहे थे कि शिवपालल यादव बीजेपी की ‘बी’ टीम हैं. लेकिन अब शिवपाल ने अखिलेश के साथ गठबंधन में शामिल होने की अच्छा जताकर सबको हैरान कर दिया है.

Shivpal singh yadav will be alliance with Akhilesh yadav
शिवपाल के ऐलान से सब हैरान

शिवपाल सिंह यादव ने एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि बीजेपी को हराने के लिए अगर जरुरत पड़ी तो उनकी पार्टी सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी हाथ मिला सकती है. दिल्ली में शिवपाल ने कहा कि फिरकापरस्त ताकतों और खासतौर से बीजेपी को हराने के लिए वह अपने भतीजे से भी हाथ मिला सकते हैं, हालांकि यहाँ उन्होंने ये भी साफ कर दिया कि वो अपनी शर्तों पर ही किसी भी पार्टी के साथ गठजोड़ करेंगे.

गठबंधन के लिए शिवपाल ने शर्त रखी है की कुल सीटों में से आधी सीट उनको मिलनी चाहिए. तभी किसी पार्टी से गठबंधन होगा. इस मौके पर उन्होंने महागठबंधन के जल्द से जल्द गठन पर भी जोर दिया. समाजवादी सेकुलर मोर्चा 9 दिसम्बर को लखनऊ में एक बडी रैली करके शक्ति प्रदर्शन करेंगे.

Shivpal singh yadav will be alliance with Akhilesh yadav
शिवपाल की शर्त पर होगा गठबंधन

9 दिसम्बर को लखनऊ में होने वाली जन आक्रोश रैली के संबंध में शनिवार को 6 लाल बहादुर शास्त्री मार्ग पर प्रसपा (लोहिया) पार्टी की समीक्षा बैठक संपन्न हुई. इस बैठक में कई दिग्गज नेता और पार्टी के मंडल प्रभारी, जिला अध्यक्ष, महानगर अध्यक्ष भी मौजूद रहे. चाचा शिवपाल के नई पार्टी बनाने से अखिलेश की पार्टी को अब तक काफी नुक्सान हो चुका है.

सपा में जिन नेताओं की बात को बिना सुने नज़रअंदाज़ किया जा रहा था वे सब सपा को छोड़कर शिवपाल की पार्टी में शामिल हो चुके हैं. अगर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) अकेले चुनाव लड़ती है तो सपा से साथ साथ बीजेपी को भी सीटों का भारी नुकसान हो सकता है.

Web Title :  Shivpal singh yadav will be alliance with Akhilesh yadav

HINDI NEWS से जुड़े अपडेट और व्यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ FACEBOOK और TWITTER हैंडल के अलावा GOOGLE+ पर जुड़ें.