शिवपाल चाचा ने किया अपनी ‘लोकसभा सीट’ का ऐलान, यहाँ से लड़ेंगे चुनाव-

यूपी में बुआ-बबुआ ने अपनी रणनीति शुरू कर दी है. और उधर कांग्रेस ने भी अपने सारे पत्ते खोल दिए हैं और यूपी की कमान प्रियंका गाँधी को सौंप दी है. तो भाई चाचा शिवपाल जी कैसे पीछे रह जाएँ भला. लोकसभा चुनाव को देखते हुए आज उन्होंने भी अपनी सीट की घोषणा कर दी है.

shivpal singh yadav contest loksabha election Firozabad
फ़ोटो सौ:- ट्विटर @shivpalsinghyadav

शनिवार को प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) प्रमुख शिवपाल यादव ने इटावा में गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम में अपनी लोकसभा सीट का ऐलान कर दिया है. शिवपाल ने फिरोजाबाद से चुनाव लड़ने की घोषणा की है. इसके साथ ही उन्होंने अखिलेश पर तंज कस्ते हुए कहा कि ऐसे लोगों पर विश्वास किया जा सकता है जो अपने बाप और चाचा को भी धोखा दे दे? बताओं क्या-क्या नहीं किया मैंने, पढ़ाई से लेकर.. क्या -क्या नहीं किया मैंने..

शिवपाल ने अखिलेश मायावती को बुआ कहते हैं. नेताजी और मैंने मायावती को कभी बहन नहीं बनाया तो वो अखिलेश की बुआ कैसे हो सकती है ? वहीं मायावती पर तंज कस्ते हुए कहा कि बुआ ने अपने भाइयों (बीजेपी) को धोखा दिया हैं. अखिलेश ने कभी बाप को बाप नहीं समझा और मुझे चाचा नहीं समझा ऐसे में कैसे भरोसा किया जाए. इसी वजह से मैंने अलग पार्टी बनाई है.

यूपी में लोकसभा चुनाव बड़ा ही दिलचस्प होगा. एक तरफ बीजेपी और दूसरी तरफ अखिलेश-मायावती तीसरी तरफ कांग्रेस और चौथी तरफ चाचा शिवपाल सिंह यादव. ये चारों पार्टियां जब चुनावी रैली में उतरेंगी तो एक से बढ़कर एक बयान सुनने को मिलेंगे. जो शायद ही अपने कहीं सुने हों. कांग्रेस की प्रियंका गाँधी भी 4 फ़रवरी को लखनऊ आ रही हैं. कांग्रेस ने प्रियंका को यूपी की कमान सौंपी है.

सियासी गलियारे में चर्चा है कि इस बार राहुल गांधी अमेठी समेत तीन लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ सकते हैं. जिसमें अमेठी, महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश शामिल हैं. वहीँ प्रियंका गाँधी के राजनीति में आने से यूपी में सियासी माहौल काफी गर्मा गया है.

हर कांग्रेसी उन्हें पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से चुनाव लड़ाने की मांग करने लगा है. जिसके लिए युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने वाराणसी में जगह-जगह पोस्टर भी चिपका दिए हैं.

चिपके हुए पोस्टरों पर लिखा है ‘काशी की जनता करे पुकार, प्रियंका गांधी हों सांसद हमार’, वी वांट प्रियंका.