दिल्ली हिंसा में फायरिंग करने वाला शाहरुख गिरफ्तार, सामने आया एक बड़ा सच, पूछताछ जारी

उत्तर पूर्वी दिल्ली में 3 दिन लगातार हुए दंगे के दौरान हवाई फायरिंग करने और दिल्ली पुलिस के हवलदार दीपक दहिया पर पिस्टल तानने वाला शाहरुख पठान क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में आ गया है.

shahrukh arrested in delhi violence case
shahrukh arrested in delhi violence case

दिल्ली पुलिस ने शाहरुख पठान को मंगलवार को यूपी के शामली से गिरफ्तार कर लिया है. शाहरुख को दिल्ली मुख्यालय, आईटीओ में लाया गया है. जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने मामले की पूरी जानकारी दी है. उसके पास से वारदात में इस्तेमाल पिस्टल बरामद हो गई है. पिस्टल बिहार के मुंगेर की बनी है. 2 साल पहले रौब झाड़ने के लिए शाहरुख ने अवैध पिस्तौल ली थी.

24 फरवरी को 3 बार फायर करने और पुलिस के जवान पर पिस्टल तानने के बाद शाहरुख वहां से भाग गया था. इसके बाद वो कनॉट प्लेस की पार्किंग में खड़ी कार में कई घंटे तक सोता रहा. और जब उसे विश्वास हो गया कि पुलिस अब दंगों में फंस चुकी है तो वो पंजाब चला गया.

दिल्ली क्राइम ब्रांच के एडिश्नल पुलिस कमिश्नर डॉ. अजित कुमार सिंगला ने जानकारी दी है कि जिस 7.65 बोर की पिस्तौल से शाहरुख ने घटना वाले दिन गोलियां बरसाईं, वो अवैध है. 24 तारीख को शाहरुख़ के पास कुल 6 गोलियां थीं. 3 राउंड उसने वहीं दंगे में चला दिए थे. दो कारतूस जब्त हो चुके हैं, जबकि एक कारतूस के बारे में उसने बताया कि वो कहीं गिर गया है.

शाहरुख़ किसी गिरोह से जुड़ा है या नहीं, दिल्ली से भागकर पंजाब जाने और वहां से उत्तर प्रदेश के बरेली जाने में उसे किन-किन लोगों ने मदद की उनकी पहचान की जा रही है. वहीं हिंसा के दौरान और दिल्ली से निकलने से लेकर शामली में उसकी गिरफ्तारी तक वो किन लोकेशन में रहा था इसकी जांच करने के लिए मोबाइल की जांच की जा रही है.

शाहरुख को मॉडलिंग, जिम और टिक टॉक का शौक है वो अपनी कई वीडियो टिक टॉक पर अपलोड कर चुका है. शाहरुख का कोई आपराधिक रिकार्ड सामने नहीं आया है. शाहरुख पर आईपीसी की धारा 307 (हत्या का प्रयास), 186 और 353 के तहत मामला दर्ज किया गया है. जांच के दौरान जरूरत पड़ने पर और धाराएं जोड़ी जा सकती हैं.

अपनी गिरफ्तारी के बाद शाहरुख ने कहा कि उसने गुस्से में विरोध प्रदर्शन के दौरान गोलीबारी की थी. उनकी कोई आपराधिक पृष्ठभूमि नहीं है, लेकिन शाहरुख़ के पिता के खिलाफ नशीले पदार्थों और नकली मुद्रा का मामला दर्ज है. जिसकी जांच जारी है. अब पूरा मामला जाँच के बाद ही सामने आएगा.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *