नोटबंदी के 3 साल, अखिलेश ने मनाया खजांची का जन्मदिन, कहा- नोटबंदी सही थी तो बैंकों की व्यवस्था क्यों खराब है ?

8 नवंबर का दिन हर किसी को याद करेगा क्युकी इसी दिन देश में 500-1000 रुपये वाले नोट बंद कर दिए गए थे. और पूरा देश अपने पैसे बदलवाने के लिए इधर उधर भटकने लगा था. आज उसके 3 साल हो गए हैं.

samajwadi party chief akhilesh yadav celebrates khajanchi birthday in lucknow
samajwadi party chief akhilesh yadav celebrates khajanchi birthday in lucknow

मगर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उस समय एक गरीब के घर को खुशियों से भर दिया था. नोटबंदी से पूरे देश में अफरातफरी का माहौल था. लोग बैंकों में घंटों लाइन लगाए रहते थे की कब उनके पैसे बदल सकें. उसी दौरान कानपुर देहात में एक गर्भवती महिला बैंक की लाइन में लगी थी. और तभी उस महिला ने वहीँ पर एक बच्चे को जन्म दिया था.

उस समय यूपी में सपा की सरकार थी और अखिलेश यादव तुरंत उस महिला के पास पहुंचे थे और उनके बच्चे का नाम खजांची रख दिया था. साथ ही उस महिला को 1 लाख रुपये की सहायता राशि और एक घर भी दिया था. जिसके जन्मदिन का जश्न समाजवादी पार्टी हर साल 8 नवंबर को मनाती है.

आज भी अखिलेश यादव ने खजांची का जन्मदिन लखनऊ के समाजवादी पार्टी कार्यालय में मनाया है. अखिलेश यादव ने इस मौके पर नोटबंदी के तीन साल पूरे होने वाली पुस्तक ‘एक मानव निर्मित त्रासदी’ का विमोचन भी किया.

इस दौरान उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में मोदी सरकार पर तंज कस्ते हुए कहा कि, नोटबंदी से न तो आतंकवाद रूका न ही भ्रष्टाचार. अर्थव्यवस्था भी चौपट है. नौकरी कहीं नहीं है. अखिलेश यादव ने पूछा की नोटबंदी अगर सही थी तो बैंकों की व्यवस्था क्यों खराब हो गई ? पैसे वाले लोग देश छोड़कर भाग गए. उत्तर प्रदेश के इकलौते बैंक इलाहाबाद बैंक को भी खत्म कर दिया. अब इलाहाबाद बैंक का नाम कोई नहीं जानेगा.

बतादें कि नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार को आयना दिखाने के लिए अखिलेश यादव हर साल 8 नवंबर को खजांची का जन्मदिन मनाते हैं.

711 total views, 5 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *