हाईकोर्ट पहुँचते ही ‘साक्षी’ के ‘अजितेश’ की हुई पिटाई, फिर कोर्ट ने दिया ये बड़ा आदेश

बीजेपी विधायक राजेश मिश्र उर्फ़ पप्पू भरतौल की बेटी का मामला रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है. प्यार के चक्कर में बेटी ने घर वालों से बगावत की और एक दलित लड़के से शादी करके दोनों फरार हो गए. मगर दिन पर दिन कोई न कोई मामला सामने आ ही रहा है.

sakshi and ajitesh case hearing in allahabad high court
sakshi and ajitesh case hearing in allahabad high court
शुरू से पढ़ें पूरा मामला कब क्या हुआ-

दरअसल राजेश मिश्रा उर्फ़ पप्पू भरतौल बरेली से बीजेपी विधायक हैं. और विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा एक दलित युवक अजितेश कुमार से प्यार कर बैठीं. फिर बेटी ने बीते चार जुलाई को प्रयागराज के एक मंदिर में अजितेश कुमार के साथ हिंदू रीति रिवाज से शादी कर ली थी. और उसके बाद से ही विधायक की बेटी और अजितेश घर से गायब हो गए.

-----

फिर 10 जुलाई को साक्षी और उसका पति अजितेश एक वीडियो के जरिये लोगों के सामने आये. और दोनों ने बरेली के पुलिस कप्तान से सुरक्षा की गुहार लगाई थी. साक्षी और अजितेश ने वीडियो में कहा था कि हम दोनों को विधायक राजेश मिश्र, बेटे विक्की भरतौल और मित्र राजीव राणा से जान को खतरा है. वे सब हमें मारने के लिए पीछे पड़े हैं. और जहां हम लोग रुके हुए हैं वहां भी हमें मारने के लिए कई गुंडे पहुंचे हैं.

फिर दोनों के इस वीडियो पर साक्षी के पिता और बीजेपी विधायक राजेश मिश्र उर्फ़ पप्पू भरतौल भी मीडिया के सामने आये और कहा कि जो मीडिया में चल रहा है सब गलत है. बेटी बालिग है. उसको निर्णय लेने का अधिकार है. किसी को धमकी नहीं दी है. हम अपने काम में व्यस्त हैं, अपनी विधानसभा में जनता का काम कर रहा हूं. बीजेपी का सदस्यता अभियान चला रह हूं ‘मेरी तरफ से कोई खतरा नहीं है.

फिर साक्षी को शायद अपनी गलती का अहसास हुआ तो वे फूट फूट कर रोने लगीं. कहने लगीं की पापा सॉरी मैंने गलती तो की है पर आप मुझे माफ़ कर देना और माँ आप टाइम पर दवा ले लेना. ऐसे ही कई बयान चलते फिरते रहे मगर आज सोमवार सुबह दोनों इलाहाबाद हाईकोर्ट पहुंच गए. अपनी सुरक्षा मांगने के लिए. मगर उच्च न्यायालय के परिसर में कुछ लोगों ने अजितेश के साथ मारपीट कर ली.

अजितेश के वकील ने इसकी पुष्टि की है. वकील ने कहा कि सिर्फ अजितेश की पिटाई हुई है. लेकिन ये पता नहीं चला है कि पिटाई करने वाले लोग कौन हैं. मगर ये साफ़ है कि दोनों की जान को खतरा है और इसलिए वे सुरक्षा मांग रहे हैं.

पिटाई मामले पर हाईकोर्ट ने कड़ा रुख अपनाया है. कोर्ट ने पिटाई मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुए साक्षी के पिता को फटकार लगाई है. और जिला प्रशासन को तलब किया है. इसके साथ ही पुलिस को साक्षी और अजितेश की सुरक्षा देने के निर्देश दिए हैं. भाजपा विधायक और साक्षी के पिता राजेश मिश्रा भी कोर्ट पहुंचे हैं. लेकिन अभी वे मीडिया के सामने नहीं आए हैं.