लखनऊ में दिनदहाड़े हुई हिंदूवादी नेता की हत्या, हत्यारे का CCTV फुटेज जारी, रखा 50 हजार का इनाम

राजधानी लखनऊ में रविवार को दिनदहाड़े हुई हिंदूवादी नेता रणजीत बच्चन की हत्या से हड़कंप मच गया है. वे रविवार सुबह सैर पर निकले थे. और उसी दौरान ग्लोब पार्क के पास बदमाशों ने उन पर फायरिंग कर दी.

ranjit bachchan shot dead in lucknow one suspect captured in cctv
ranjit bachchan shot dead in lucknow one suspect captured in cctv

सिर में कई गोलियां लगने से रणजीत ने मौके पर ही दम तोड़ दिया. उनके भाई भी गोली लगने से जख्मी हुए हैं. दिनदहाड़े गोली चलने से पूरा इलाका दहशत में आ गया. हर तरफ अफरा तफरी मच गई. मृतक की पत्‍नी कालिंदी ने हत्या के पीछे हिंदू विरोधी संगठनों की संलिप्तता का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि रणजीत को फेसबुक और वाट्सऐप पर अक्सर धमकियां मिलती थीं.

पत्नी कालिंदी ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से यही कहना चाहती हूं कि हिंदुत्व का आपका एक सिपाही चला गया है. उसे कफन में एक भगवा कपड़ा दे दीजिए. मैं समाज सेवा करती थी और जो भी मिलता था उसे समाज में लगा देती थी. मैं चाहती हूं कि मेरा असलहा सरकार रिन्यूअल करवा दे. मेरे रहने की कोई जगह उपलब्ध करवा दें. मेरे रोजगार की व्यवस्था करने के साथ ही मेरी आर्थिक मदद कर दें. मेरे पास कुछ भी पैसा नहीं है. परिजनों ने सरकार से 50 लाख रुपये मुआवजा, सरकारी नौकरी और आवास समेत कई मांगे रखी हैं.

वहीं हत्‍याकांड मामले में अब आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) की भी मदद ली जा रही है. कई बिंदुओं पर पुलिस पड़ताल कर रही है. लखनऊ नगर के कमिश्नर सुजीत पांडेय के निर्देशन में कई टीमें गहनता से छानबीन कर कर रही हैं. उधर, घटनास्‍थल के पास लगे सीसी कैमरे में एक संदिग्ध शॉल ओढ़े दिखाई दिया है.

मामले में लापरवाही बरतने पर चौकी इंचार्ज समेत चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है. पुलिस ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज हमलावर कंबल ओढ़े पीछे जाते देखा गया है. पहचान बताने वाले काे 50 हजार का इनाम दिया जाएगा. पुलिस संदिग्ध की तलाश में लगी है. आशंका जताई जा रही है कि संदिग्ध ही मुख्‍य आरोपित है। वहीं, घटना का राजफाश करने के लिए आठ टीमें गठित की गई हैं.

रणजीत अपने मित्र आदित्य कुमार श्रीवास्तव के साथ मॉर्निंग वॉक के लिए निकले थे. आदित्य को बायें हाथ में गोली लगी है. आदित्य के हाथ में फैक्चर हुआ है. प्लास्टर करवाने के बाद पुलिस आदित्य को हजरतगंज कोतवाली ले आई है जहां उससे पूछताछ की जा रही है.

सीसीटीवी फुटेज में एक शख्स कंबल लपेटे उसी जगह से गुजरता दिखाई दे रहा है. पुलिस की तरफ से कहा गया है कि इस व्यक्ति के बारे में सूचना देने वाले व्यक्ति को 50 हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा और सूचना देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी. संदिग्ध के बारे में सूचना मोबाइल नंबर 9454400137 पर या मेल आईडी cplkw137@gmail.com पर दे सकते हैं.

रणजीत बच्चन विश्व हिंदू महासभा के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष होने के साथ-साथ लंबे समय तक समाजवादी पार्टी से भी जुड़े रहे थे. वे सपा के लिए गोरखपुर में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करवाते थे. रणजीत बच्चन मूल रूप से गोरखपुर जिले के गोला के अहरौली पंचगांवा के रहने वाले थे, जोकि मौजूदा समय में लखनऊ में हजरतगंज की ओसीआर बिल्डिंग के बी ब्लॉक में रहते थे. सपा सरकार में रंजीत को उक्त फ्लैट आवंटित किया गया था. उनकी दो पत्नियां थीं. पहली पत्नी का नाम कालिंदी और दूसरी का स्मृति है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *