6 दिसम्बर से शुरू होगा भव्य ‘राम मंदिर’ का निर्माण: रामविलास वेदांती

जब भी चुनाव नजदीक आते हैं तभी राम मंदिर का मुद्दा गरमा जाता है. बीजेपी ने भी राम मंदिर के नाम पर ही यूपी का विधानसभा चुनाव जीता था. लेकिन सत्ता में आने के बाद अब बीजेपी जनता से किया हुआ वादा भूल गई है. वहीं राम जन्मभूमि न्यास समिति के वरिष्ठ सदस्य और पूर्व सांसद रामविलास वेदांती ने शुक्रवार को ये ऐलान किया है कि अयोध्या मे इसी साल छह दिसम्बर से भव्य राममंदिर का निर्माण शुरू हो जायेगा.

मुसलमान भी चाहता है राम मंदिर बने

Ram temple Construction will start from 6th December
मुसलमान भी चाहता है राम मंदिर बने

वेदांती ने कहा कि भारत देश का मुसलमान भी यही चाहता है कि अयोध्या में भव्य रामलला मंदिर बने. सुन्नी और शिया वक्फ बोर्ड के लोग भी चाहते हैं की राम मंदिर बने. बस केवल 20 प्रतिशत लोग ही नहीं चाहते ऐसा और वो ऐसे लोग हैं जो पाकिस्तान से सम्मानित किये जाते हैं. क्युकि पाकिस्तान की शुरू से मंशा है कि भारत का हिंदू और मुसलमान आपस में इसी तरह से लड़ता रहे. रामविलास वेदांती ने कहा बाबर के वंशज प्रिंस झूठ बोलते है. जमीन का मालिकाना हक की बात करें तो अयोध्या की जमीन सरकारी दस्तावेजो मे दशरथ के नाम पर दर्ज हुआ करती थी जो आज राजाराम के नाम पर दर्ज है. सबूत अदालत मे भी प्रस्तुत किये जा चुके है.

विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी

रामविलास वेदांती ने कहा कि 2019 में मोदी के नेतृत्व में ही सरकार बनेगी. विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी है। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बनाने के बाद रामराज की घोषणा हो गई है. विरोधियों के एक मंच पर आने व खींचतान से बीजेपी और मजबूत हुई है. मोहन भागवत के राममंदिर निर्माण के लिए कानून बनाये जाने की पहल का स्वागत करते हुए रामविलास वेदांती ने कहा कि पांच अक्टूबर को साधु संतो के ऐलान के बाद आरएसएस प्रमुख का ये बयान स्वागत योग्य है.