रेलवे ने पकड़ा तत्काल टिकट पर हो रहा फर्जीवाड़ा, 60 एजेंट गिरफ्तार, अवैध सॉफ्टवेयर किये नष्ट

अब ट्रेन से सफर करने पर आपको कोई परेशानी नहीं होगी. यात्रियों को तत्काल टिकट लेने में काफी दिक्कत होती थी. लेकिन अब तत्काल टिकट लेने पर कोई परेशानी नहीं होगी. रेलवे ने तत्काल टिकट की राह में रोड़ा बन रहे गैरकानूनी साफ्टवेयर को पूरी तरह से नष्ट कर दिया है.

railways roots out illegal softwares tatkal tickets available now
railways roots out illegal softwares tatkal tickets available now

गैरकानूनी साफ्टवेयर नष्ट करने के साथ ही रेलवे ने 60 एजेंट गिरफ्तार किए गए हैं. ये एजेंट ही तत्काल टिकटों को ब्लॉक करने के लिए गैरकानूनी साफ्टवेयर का इस्तेमाल करते थे. गिरफ्तार किये गए लोगों में एक कोलकाता का व्यक्ति भी है और संदेह है कि उसका संपर्क बांग्लादेश स्थित आतंकवादी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश से है.

रेलवे के इस कदम से अब यात्रियों के लिए अधिक संख्या में तत्काल टिकट उपलब्ध हो सकेंगे. रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि एएनएमएस, मैक और जगुआर जैसे अवैध सॉफ्टवेयर आईआरसीटीसी के लॉगिन कैप्चा, बुकिंग कैप्चा और बैंक ओटीपी को बाईपास करते थे जबकि वास्तविक ग्राहकों को इन सभी प्रक्रियाओं से गुजरना होता है.

मतलब कि एक सामान्य ग्राहक के लिए बुकिंग प्रक्रिया में लगभग 2.55 मिनट लगते हैं, लेकिन ऐसे अवैध सॉफ्टवेयरों का उपयोग करने वाले बुकिंग प्रक्रिया को लगभग 1.48 मिनट में पूरा कर लेते थे.

रेलवे एजेंटों को तत्काल टिकट बुक करने की इजाजत नहीं देता है और पिछले दो महीनों में आरपीएफ ने करीब 60 गैरकानूनी एजेंटों को गिरफ्तार किया है. ये एजेंट साफ्टवेयर के माध्यम से तत्काल टिकट बुक कर रहे थे जिससे दूसरों के लिए इन्हें (तत्काल टिकट) लेना असंभव साबित हो रहा था. रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि अधिकतर अवैध सॉफ्टवेयरों को ब्लॉक कर दिया गया है जो सालाना 50 करोड़ -100 करोड़ रुपये का कारोबार करते थे.

रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के महानिदेशक अरुण कुमार ने जानकारी दी कि सफाई अभियान का अर्थ है कि जो पहले बुकिंग खुलने के कुछ मिनटों बाद ही टिकट समाप्त हो जाते थे लेकिन अब यात्रियों के लिए तत्काल टिकट घंटों तक उपलब्ध रहेंगे. आज मैं ये कह सकता हूं कि अवैध सॉफ्टवेयरों के जरिए एक भी टिकट नहीं बुक किया जा रहा है. हमने आईआरसीटीसी से जुड़े सभी मुद्दों को हल कर लिया है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *