इंतजार ख़त्म: रेलवे और एयरलाइंस की टिकट बुकिंग शुरू, इस दिन से आप कर सकेंगे सफर, देखें-

देश में 21 दिन का सम्पूर्ण लॉकडाउन चल रहा है. देश के सभी 130 करोड़ लोग अपने घरों में हैं. लेकिन सोशल मीडिया पर अफवाह उड़ रही है कि ये लॉकडाउन अभी 3 महीने तक रहेगा. मगर ऐसा बिलकुल भी नहीं है.

railway and airlines companies started booking
railway and airlines companies started booking

अफवाहों से दूर रहें, 21 दिन तक घर में रहें, अपना और परिवार का ख्याल रखें. कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने रविवार को कहा था कि 21 दिनों की लॉकडाउन अवधि को बढ़ाने की सरकार की कोई योजना नहीं है. उन्होंने इसे लेकर आ रही रिपोर्ट्स पर हैरानी जताई. सरकार के ऐलान के बाद ट्रैवल एजेंट्स ने रेलवे में बुकिंग को लेकर पूछताछ शुरू कर दी है.

खुश खबरी ये है कि भारतीय रेलवे ने 14 अप्रैल के बाद के लिए टिकट बुकिंग शुरू कर दी है. वेस्टर्न रेलवे के पीआरओ प्रदीप शर्मा ने कहा कि भारतीय रेलवे ने 14 अप्रैल के बाद की रेल यात्रा के लिए टिकट बुकिंग शुरू कर दी है. आईआरसीटीसी की एप और वेबसाइट पर 15 अप्रैल से यात्रा के लिए टिकट उपलब्ध हैं. हालाँकि लॉकडाउन की वजह से अभी स्टेशनों पर टिकट की बुकिंग नहीं होगी.

वहीं निजी एयरलाइंस स्पाइसजेट, इंडिगो और गोएयर घरेलू यात्रा के लिए ऑनलाइन बुकिंग सिस्टम को 15 अप्रैल से बुकिंग के लिए खोल रहे हैं. हालांकि, अभी तक एयरलाइंस की तरफ से इस मुद्दे पर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है. अब ऐसे में टिकट बुकिंग खुलने से ये माना जा रहा है कि 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन आगे नहीं बढ़ाया जायेगा.

लेकिन अगर लॉकडाउन की अवधि बढ़ती है तो पहले से बुक किए गए टिकट रद्द हो सकते हैं. ऐसी स्थिति में आईआरसीटीसी रेल किराए का पैसा यात्री के बैंक खाते में सीधे भेज देगा.

बतादें कि भारत का रेल नेटवर्क दुनिया का सबसे लंबा रेल नेटवर्क है. देश की 13,452 यात्री ट्रेन के जरिए करीब 2.3 करोड़ लोग 1,23,236 किलोमीटर के दायरे में प्रतिदिन यात्रा करते हैं. रेल को भारत की लाइफ लाइन कहा जाता है. वहीं इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (IATA) के अनुसार, इस संकट की वजह से दुनियाभर में एयरलाइंस को करीब 113 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है. भारतीय एविएशन सेक्टर को हर दिन करीब 150 करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *