स्मृति ईरानी से डरे राहुल गाँधी, इन तीन सीटों से लड़ेंगे लोकसभा चुनाव..

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दो दिवसीय दौरे के लिए आज अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी पहुंच रहे हैं. राहुल गाँधी सुबह 11 बजे लखनऊ एयरपोर्ट पहुंचे. तीन राज्यों के चुनाव में बड़ी जीत हांसिल करने के बाद बुधवार को राहुल पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी आ रहे हैं.

rahul gandhi visit amethi tow days 3 loksabha seet
rahul gandhi visit amethi tow days 3 loksabha seet

कांग्रेस ने भले ही अन्य दलों के साथ मिलकर महागठबंधन की नींव न रखी हो लेकिन इस बार लोकसभा चुनाव काफी दिलचस्प होने जा रहा है इसमें कोई शक नहीं है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बीच इस बार सीधा मुकाबला होगा. और अब तो राहुल का साथ देने उनकी बहन प्रियंका गाँधी भी मैदान में उतर गईं हैं. कांग्रेस ने उन्हें पार्टी का महासचिव बना दिया है. कांग्रेस की तरफ से जारी प्रेस नोट में बताया गया है कि प्रियंका गांधी फरवरी माह के पहले हफ्ते में अपना कार्यभार संभालेंगीं.

-----

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी फिर से सत्ता में आने के लिए जी-तोड़ मेहनत कर रहे हैं. सियासी गलियारे में चर्चा है कि इस बार राहुल गांधी अमेठी समेत तीन लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ सकते हैं. राहुल अमेठी, महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश से चुनावी मैदान में उतर सकते हैं.

बतादें महाराष्ट्र के नांदेड़ लोकसभा सीट से महाराष्ट्र के पूर्व सीएम अशोक चव्हाण संसद है और वो उनका गृह क्षेत्र भी है. राहुल के इस सीट से लड़ने का अनुमान तब लगाया गया जब अशोक चव्हाण ने कहा- राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष हैं. वे किसी भी लोकसभा सीट से सफलतापूर्वक लड़ सकते हैं. अगर राहुल नांदेड़ से चुनाव लड़ने का फैसला करते हैं तो उनका बहुत स्वागत है.

अमेठी की बात करें तो राहुल को इस बार सावधानी से चुनाव लड़ना होगा क्युकी 2014 में भाजपा ने राहुल को टक्कर देने के लिए स्मृति ईरानी को अमेठी से मैदान में उतारा था. और स्मृति ने राहुल गाँधी को कड़ी टक्कर दी थी. तब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल का जीत का अंतर घटकर करीब 1 लाख 7 हजार वोट पहुंच गया था. बीजेपी इस बार भी स्मृति ईरानी को अमेठी से मैदान में उतारने की तैयारी कर रही है.

अब राहुल का तीन सीटों से चुनाव लड़ना ये भी हो सकता है की राहुल बीजेपी की स्मृति ईरानी से डर गए हों की कहीं वे इस बार हार न जाएं. इसलिए अपनी साख़ बचाने के लिए वे तीन सीटों से लड़ रहे हैं ताकि किसी में तो जीत ही जायेंगे. वही राहुल के तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने को लेकर माना जा रहा है कि वे मोदी को कड़ी टक्कर देने की तैयारी में हैं.