PM मोदी मज़बूत कर रहे थे अपना ‘वोट बैंक’, बगल में खड़े देखते रहे ‘मनमोहन’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिन पर दिन रैलियां कर रहे हैं. आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए हर धर्म के लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने के काम में लग गए हैं. आज रविवार को मोदी ने गुरु गोविंद सिंह की जयंती पर उन्हें याद किया. और यहाँ उनकी याद में पीएम मोदी ने गुरु गोविंद सिंह का स्मारक सिक्का जारी कर दिया.

prime minister modi will release guru gobind singh coin
फ़ोटो सौ: jagran.com
मोदी साथ दिखे मनमोहन

ख़ास बात तो ये थी की उस वक्त देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी वहां मौजूद थे. लेकिन पूरा क्रेडिट तो मोदी ही ले रहे थे. स्मारक सिक्का जारी करने के बाद मोदी ने कहा- ‘गुरु गोविंद सिंह जी का सिक्का सैंकड़ों सालों से हमारे दिलों पर चल रहा है. उन्होंने खालसा पंथ के जरिए पूरे देश को जोड़ने की कोशिश की.’ करतापुर कॉरिडोर का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘करतारपुर कॉरिडोर के माध्यम से सिख श्रद्धालु गुरु नानक देव जी की 550 वीं जयंती पर पाकिस्तान के नरोवाल में स्थित दरबार साहिब के लिए वीजा-मुक्त तीर्थ यात्रा कर सकेंगे.

उन्होंने कहा, अगस्त 1947 में देश के विभाजन में जो चूक हुई थी, ये करतारपुर कॉरिडोर उसी का प्रायश्चित है. हमारे गुरु का सबसे महत्वपूर्ण स्थल बस कुछ ही किलोमीटर दूर था. लेकिन उसे अपने साथ नहीं ला पाए थे. ये कॉरिडोर उस नुकसान को कम करने का प्रमाणित परिणाम है. मोदी भाषण दे रहे थे और मनमोहन सिंह बैठे सुन रहे थे.

बीजेपी के वोट बैंक के लिए ये अच्छा दिन था. करतारपुर कॉरिडोर के माध्यम से सिख अपने गुरु जी के दर्शन बिना वीजा के कर पाएंगे. और वो भी पकिस्तान में. और पीएम मोदी ने गुरु गोविंद सिंह का स्मारक सिक्का भी जारी कर दिया. इन दोनों चीजों से सिख समुदाय के लोगों में ख़ुशी है. और ये बीजेपी के आगामी लोकसभा चुनाव के लिए लाभदायक हो सकता है.

इससे पहले मोदी ने 5 जनवरी, 2017 को गुरु गोबिंद सिंह जी की याद में एक डाक टिकट जारी किया था. और पिछले साल 30 दिसंबर को उन्होंने अपने रेडियो संबोधन ‘मन की बात’ में भी गुरु गोबिंद सिंह जी को याद किया था और उनकी वीरता, त्याग और भक्ति की सराहना की थी.