हनुमान जी को मिले जाति प्रमाण-पत्र, नहीं तो कार्यालय पर देंगे धरना: प्रसपा

Ulta Chasma Uc  :   एक तरफ देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की चर्चा चल रही है तो वहीँ दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा हनुमान जी को दलित बताये जाने की चर्चा भी शांत नहीं हुई है. चुनाव प्रचार के दौरान इसी मुद्दे पर सियासी तीर चलाये जा रहे हैं. दरअसल राजस्थान में प्रचार करने गए सीएम योगी आदित्यनाथ ने पवनपुत्र हनुमान जी दलित कह डाला, उन्होंने कहा की हनुमान दलित जाति के थे.

pragatisheel samajwadi party demands caste cretificate to lord hanuman
pragatisheel samajwadi party demands caste cretificate to lord hanuman

जिसके बाद ये मुद्दा शोले की तरह भड़क गया. और दलित समाज के लोग सभी हनुमान मंदिरों पर अपना कब्ज़ा करने लगे. दलितों का कहना है की जब सीएम योगी ने खुद मान लिया है की हनुमान जी दलित हैं तो उनके मंदिरों पर किसी और का हक़ कैसे हो सकता है ?

-----

वहीं अब यूपी में नई पार्टी बनकर उभर रही शिवपाल की पार्टी ने भी दलित वाले बयान पर सवाल खड़े करने शुरू कर दिए हैं. शिवपाल की पार्टी से जुड़े उनके कार्यकर्ताओं ने वाराणसी के जिलाधिकारी को एक पत्र लिखा है. जिसमें भगवान हनुमान को जाति प्रमाण पत्र देने की मांग की गई है.

कार्यकर्ताओं ने ये भी कहा है कि अगर भगवान हनुमान को जाति प्रमाण पत्र नहीं दिया गया तो हम लोग वाराणसी के जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना देंगे. कुछ लोगों का मानना है की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी द्वारा ये कदम सिर्फ लोगों का ध्यान अपनी तरफ बनाये रखने का है.

योगी के इस बयान का मजाक सोशल मीडिया पर भी खूब उड़ाया जा रहा हैं. इस समय बुद्ध की मूर्ति की तरफ हाथ जोड़कर बैठे बन्दर की फोटो वायरल हो रही है. जिसमें लिखा गया है की हनुमान जी ने दलित छोड़ बौद्ध धर्म अपनाया. बतादें बीजेपी ने योगी के इस बयान से किनारा कर रखा है. सब इस सवाल से बचते नज़र आ रहे हैं. लेकिन राजनीतिक पार्टियां इसका पूरा फ़ायदा उठा रहीं हैं.

Web Title :  pragatisheel samajwadi party demands caste cretificate to lord hanuman

HINDI NEWS से जुड़े अपडेट और व्यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ FACEBOOK और TWITTER हैंडल के अलावा GOOGLE+ पर जुड़ें.