यूपी में दरग़ाह के पीछे बन रहे थे ‘अवैध हथियार’, दो फैक्ट्री समेत तीन जगह छापा, पुलिस के भी उड़ गए होश-

एक तरफ चुनावी मौसम और दूसरी तरफ बड़ी संख्या में बन रहे थे अवैध हथियार. शनिवार को एक ऐसी तमंचा फैक्टरी का भंडाफोड़ हुआ है, जिसे पूरा परिवार मिलकर चला रहा था. और प्रशासन के कान में जूं भी नहीं रेंग रही थी.

police recovered illegal arms factory
police recovered illegal arms factory

पुलिस ने मौके से फैक्ट्री पर छापा मारा है. और बने हुए व अधबने तमंचों के साथ भारी मात्रा में औजार बरामद किए हैं. पुलिस ने फैक्ट्री में अवैध हथियार बनाने वाले गुलहसन पुत्र फकरू को गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि इसकी जानकारी पुलिस को पहले से ही थी. लेकिन वो पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ रहा था. गुलहसन पर जब 25 हजार का इनाम घोषित हुआ. तभी से पुलिस ने उसकी तलाश तेज कर दी थी.

-----

एसएसपी नितिन तिवारी व एसपी देहात अविनाश पांडेय ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि एसओ मवाना संजय सिंह और क्राइम ब्रांच की टीम ने मवाना में आईटीआई के पास किराए के गोदाम पर छापा मारकर वहां से हुमायूं नगर लिसाड़ी गेट निवासी गुलहसन पुत्र फकरू को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने छापे में पांच तमंचे, 11 नाल, 30 हैमर ट्रिगर, 18 जोड़ी बॉडी की पत्ती, एक ड्रिल व दो ग्राइंडर मशीन समेत तमंचे बनाने के औजार बरामद कर लिए हैं.

आरोपी ने पूछताछ में बताया कि चुनावी मौसम में तमंचों और पिस्टल की डिमांड बढ़ जाती है. मांग के अनुसार वह दो से तीन हजार रुपये में एक तमंचा बनाता था. वहीं, पिस्टल भी ऑन डिमांड तैयार करा दी जाती थी. चुनाव में तमंचे और पिस्टल की डिमांड पूरी करने के लिए कई बार कारीगर भी बढ़ाए गए. बतादें गुलशन का पूरा परिवार ही अवैध हथियार बनाता है. पिता फकरू ने तालीम के नाम पर बेटे गुलहसन को तमंचे बनाना सिखाया था.

उधर फतेहपुर में कोतवाली पुलिस ने शनिवार को दो अलग-अलग स्थानों पर दो युवकों से एक रिवाल्वर, चार जिंदा कारतूस और देशी पिस्टल बरामद की है. अवैध हथियारों की धरपकड़ के लिए चलाए गए अभियान के तहत शनिवार को मिली सूचना पर सीकरिया चौरास्ता पर मैक्स कैफे के पास कस्बे के वार्ड 40 मोहल्ला मोमीनपुरा निवासी इदरीश से एक देशी रिवाल्वर और पांच जिंदा कारतूस बरामद किए हैं. और दूसरे युवक को बेसवा रोड पर पेट्राेल पंप के पास वार्ड 32 बंजारा बस्ती निवासी रणवीर के पास से अवैध पिस्टल जब्त की गई है.

पुलिस के अनुसार दोनों ही आरोपी चुनावी माहौल में अवैध हथियारों से कोई संगीन जुर्म करने की फिराक में थे. दोनों आरोपियों से पूछताछ कर जानकारी जुटाई जाएगी कि उन्होंने ये अवैध हथियार कहां से खरीदे थे.

वहीं एक और बड़ी ख़बर ये है कि पटियाली थाना पुलिस ने भरगैन औरंगाबाद रोड पर चिश्ती बाबा की दरगाह के पीछे अवैध हथियार बनाने का कारखाना चल रहा था. जिसकी सूचना मिलने पर पुलिस ने तुरंत छापेमारी की है. इस दौरान पुलिस ने घेराबंदी कर कदीर को गिरफ्तार कर लिया, जबकि धर्मेन्द्र उर्फ फूले, उदयवीर सिंह निवासी भरगैन मौके से भगाने में कामयाब रहे. पुलिस ने मौके से तीन तमंचे, 315 बोर के डमी कारतूस के अलावा भारी मात्रा में बने और अधबने हथियारों को जखीरा बरामद किया है.