पिता दरोगा, बेटा डकैत

ये तो एक दम सही है की अगर कोई किसी भी विभाग में अधिकारी है तो उसके लड़के किसी से नहीं डरते. और आपने कई लड़कों को ये कहते भी सुना होगा की वहां के अधिकारी हैं मेरे बाप, तुमको घर से उठवा लेंगे. इसी तरह के ही एक लड़के ने पिता की पोस्ट का फ़ायदा उठा कर डाका ही डाल दिया.

police inspector son the master of robbery gang
police inspector son the master of robbery gang
क्या है मामला ?

मामला है मुरादाबाद के नागफनी थाना क्षेत्र के किसरौल का है. बीते 23 नवंबर को पीतल कारोबारी हाजी यासीन के घर डकैती डाली गई. घटना के एक माह बाद पुलिस कार्यवाही करते हुए मुठभेड़ में आसिफ और शाकिर को गिरफ्तार कर लिया था. साथ ही मुहम्मद युसूफ को रामपुर जीआरपी ने पकड़ा जिसे अदालत ने जेल भेज दिया है. गैंग का सरगना नाजिर अंसारी और मुंतजिर कुरैशी अभी भी फरार चल रहे हैं.

पुलिस का खुलासा

इस बीच डकैती के मामले की जाँच कर रही पुलिस ने एक बड़ा खुलासा कर दिया है. जिसको सुन कर सभी अधिकारियों के हाथ पैर फूल गए हैं. दरअसल अब बात खाकी तक आ गई है. पुलिस की जांच में ये पता चला है कि दरोगा के ही बेटे ने डकैती करवाई थी. उसी के ही कहने पर नाजिर ने डकैती करने के लिए यासीन का घर चुना था.

कैसे डाली डकैती ?

बदमाश डकैती से पहले दरोगा के घर पर पहुंचे. उसके बाद दरोगा के बेटे और बदमाशों के बीच प्लान बना फिर बदमाशों ने बुर्का पहन कर कारोबारी के घर में दाखिल हो गए. थोड़ी देर बाद बदमाश डकैती कर वहां से भाग निकले. पुलिस को सूचना मिलते ही कार्यवाही शुरू हुई. पकड़े न जाएं इसलिए दरोगा का बेटा पुलिस की कार्यवाही की जानकारी भी बदमाशों को देता रहा.

अब पुलिस नाजिर अंसारी को ढूंढ रही है. क्युकी उसी के पास असली ज्वेलरी है. सीओ क्राइम की जांच में दरोगा के बेटे को डकैती का मास्टर माइंड मानकर आरोपित बना दिया है.