मुख्तार अंसारी के एक और करीबी के छह मंजिला बिल्डिंग पर चला बुलडोजर, करोड़ों में है कीमत

यूपी में जब से योगी सरकार बनी है तब से माफिया और दबंगों पर लगातार कार्यवाही की जा रही है. मुख़्तार अंसारी और अतीक अहमद के कई अवैध निर्माणों पर सरकार ने बुलडोजर चलवाया है और ये प्रक्रिया अभी भी जारी है.

police collapsed house of mukhtar ansari gang member
police collapsed house of mukhtar ansari gang member

अब उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में मऊ जिले के सदर विधायक मुख्तार अंसारी के करीबी प्रॉपर्टी डीलर और सपा नेता गणेशदत्त मिश्र की छह मंजिला बिल्डिंग को गिराने का काम पुलिस ने सुबह सात बजे से ही शुरू कर दिया है. सुबह 6:00 बजे ही सीओ सिटी और शहर कोतवाल के साथ जेसीबी और 2 पोकलेन लेकर टीम रौजा पहुंची है. पुलिस के वाहनों के होटल और पोकलेन के शोर में जागी चंदननगर कॉलोनी में सुबह से सैकड़ों लोगों की भीड़ जुट गई है.

-----

बतादें कि गणेशदत्त मिश्र अपने पिता के नाम पर शहर से बिल्कुल सटे रजदेपुर देहाती स्थित श्रीराम कॉलोनी में हछ मंजिला बिल्डिंग (टावर) का निर्माण करवा रहे थे. एसडीएम ने जांच की तो पाया कि निर्माण में मास्टर प्लान के नियमों की अनदेखी की गई है. उसके बाद एसडीएम कोर्ट ने उनकी निर्माणाधीन बिल्डिंग को गिराने का आदेश दिया.

तीन करोड़ 31 लाख 75 हजार रुपये की संपत्ति जिला प्रशासन ने धराशायी कर दी है. देर रात डीएम एमपी सिंह की अगुवाई में आठ सदस्यीय अधिकारियों के बोर्ड ने एसडीएम कोर्ट के फैसले को सुरक्षित रखते हुए बिल्डिंग के ध्वस्तीकरण पर मुहर लगा दी थी. शाम तक पूरी इमारत गिरा दी जाएगी. मालूम हो कि पिछले कुछ महीनों से शासन-प्रशासन द्वारा मुख्तार अंसारी एवं उनसे जुड़े लोगों पर लगातार कार्रवाई चल रही है.

वहीं इससे पहले गाजीपुर पुलिस ने मुख़्तार गैंग के दो और गुर्गों को अरेस्‍ट करने में सफलता हासिल की थी. गिरफ्तार जफर अब्‍बास और सैयद सादिक मुख्‍तार के बेहद करीबी सहयोगी हैं. दोनों पर गजल होटल की जमीन की रजिस्ट्री में धांधली का आरोप है. इन्‍होंने गजल होटल की जमीन की रजिस्ट्री में तथ्यों को छुपा कर मुख्तार अंसारी की पत्नी अफ्सा अंसारी और उसके बेटों अब्बास व उमर अंसारी के नाम दर्ज कराने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई थी.