भाजपा राज में पुलिस (Police) का लाठीचार्ज देखिए..

नमस्कार दोस्तों ये यूपी की पुलिस (Police) है ..क्या वर्दी पहन लेने से आपको किसी को भी मारने का अधिकार मिल जाता है,..क्या वर्दी पुलिस वालों को इसलिए ही दी जाती है कि आप किसी के ऊपर भी इस तरह से लाठी चार्ज कर सको..पुलिस प्रशासन को वर्दी रक्षा करने के लिए दी जाती है या लाठियां बससाने के लिए..दोस्तों प्रदेश में सरकार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की है..और योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि प्रदेश की 25 करोड़ जनता ही उनके लिए उनका परिवार है..

तो क्या आपने कभी देखा है..की अपने परिवार पर जब अपके पास एक छोटी सी बच्ची हो क्या इस तरह से कोई किसी को मारता है..क्या आपने कभी ऐसा देखा है..हम दिखाते हैं..ये वीडियो देखिए..देखा आपने ये हमारी उत्तर प्रदेश का पुलिस (Police) प्रशासन है और ये किस तरह से लाठीचार्ज कर रही है..अब मामला क्या है वो भी आप जान लीजिए..

कानपुर देहात में जिला अस्पताल के बगल में मेडिकल कॅालेज बनाने के लिए खुदाई का काम चल रहा था..जहां कि मिट्टी उड़कर जिला अस्पताल में आ रही थी..तो भाई वहां के कर्मचारियों ने इसकी शिकायत की..लेकिन शिकायत के बााद भी जब कोई कार्यवायी नहीं हुई तो फिर वहां के लोगों अपना प्रदर्शन शुरु कर दिया..

जब पुलिस (Police) प्रसासन ने देखा कि प्रदर्शन हो रहा है तो हॅास्पिटल बंद करके जिला अस्पताल के कर्मचारियों को हटाना चाहते थे..लेकिन जब कोई शांत नहीं हुआ तो पुलिस ने कर्मचारियों पर लाठीचार्ज करना शुरु कर दिया..और जिला अस्तपताल के वार्डबॅाय को और कर्मचारी नेता रजनीश शुक्ला को जमकर धो दिया..उन्होने ये तक नहीं सोचा की उसकी गोद में एक छोटी सी बच्ची है..उस बच्ची पर क्या असर पड़ेगा..एक बच्ची को गोद लिए पिता चिल्लाता रहा लेकिन पुलिस की लाठियां नहीं रुंकी..

पुलिस (Police) के लाठीचार्ज का ये वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है..इस मामले में अकबरपुर के एसएचओ विनोद कुमार मिश्रा को सस्पेंड कर दिया गया है..लेकिन क्या पुलिस का इस तरह से लाठी चलाना सही है..क्या वर्दी पहनकर ये सभी अधिकार मिल जाते हैं..

पुलिस (Police) प्रशासन का ये रुप देखते हुए उनके लिए समाजवादी पार्टी ने कहा कि-

उत्कर्ष सिंह कहते हैं कि-

समाजवादी प्रवक्ता आई पी सिंह कहते हैं कि-

पुलिस की ऐसी हरकत पर वरुण गांधी ने भी ट्वीट करते हुए कहा कि-

कांग्रेस नेता श्रीनिवास बीवी ने कहा कि-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *