चीन को चेतावनी: PM मोदी ने कहा- मैं भरोसा दिलाता हूं, हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा

चीनी आर्मी के साथ खूनी झड़प में 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन को आगाह करते हुए साफ़ कह दिया कि चाहे कोई भी हालात हो भारत अपनी हर इंच जमीन की रक्षा करेगा.

pm narendra modi said india china border dispute
pm narendra modi said india china border dispute

पीएम मोदी ने कहा कि मैं देश को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. हमारे लिए भारत की अखंडता और संप्रभुता सर्वोच्च है और इसकी रक्षा करने से हमें कोई भी रोक नहीं सकता. भारत शांति चाहता है, लेकिन भारत उकसाने पर हर हाल में माकूल जवाब देने में सक्षम है. इस बारे में किसी को भी जरा भी भम्र या संदेह नहीं होना चाहिए.

-----

उन्होंने कहा कि हमारे दिवंगत शहीद वीर जवानों के विषय में देश को इस बात का गर्व होगा कि वे मारते-मारते मरे हैं. भारत सांस्कृतिक रुप से एक शांति प्रिय देश है और हमारा इतिहास शांति का रहा है. सबके सुख-समृद्धि की कामना ही भारत का वैचारिक मंत्र रहा है. हमने हर युग में पूरे संसार में शांति की पूरी मानवता के कल्याण की कामना की है और अपने पड़ोसियों के साथ तरीके से मिलकर काम किया है.

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर और चीन के विदेश मंत्री वांग यी के बीच फोन पर चर्चा हुई है. जिसमें विदेश मंत्री ने कहा कि सीमा पर जो कुछ भी हुआ है, उसके लिए चीन जिम्मेदार है और ये कदम उसने सोच-समझकर उठाया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 जून को इस मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक बुलाई है. सीमा पर इस घटना का द्विपक्षीय संबंधों पर गहरा असर पड़ेगा. वक्त की मांग यही है कि चीन अपने इस कदम का फिर से मूल्यांकन करे और कदम उठाए.

वहीं रूस के विदेश मंत्रालय ने बताया कि 23 जून को रुस, भारत और चीन के विदेश मंत्रियों के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत होगी. आरआईसी चेयरमैनशिप के अंतर्गत होने वाली इस चर्चा में ग्लोबल पॉलिटिक्स, इकोनॉमी और कोरोना महामारी से जुड़े मामलों पर बातचीत होगी.