पश्चिम बंगाल में गर्जे मोदी-राजनाथ, कहा- आज पता चला ‘दीदी’ की नाराज़गी का कारण..

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ममता दीदी के गढ़ पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के प्रचार का बिगुल फूंक दिया है. इस बार मोदी पश्चिम बंगाल को भगवा करने के मूड में हैं. और यहाँ मोदी अकेले नहीं आये हैं. उसके साथ गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद हैं. पीएम मोदी ने यहाँ ठाकुरपुर में रैली को संबोधित किया.

pm narendra modi and rajnath singh arrives in west bengal address rally
pm narendra modi and rajnath singh arrives in west bengal address rally

मोदी ने सभा में मौजूद भीड़ की तरफ इशारा करते हुए कहा कि ये नजारा देखकर मुझे समझ आ गया कि आखिर ममता दीदी हिंसा पर क्यों उतर आईं. दीदी इसी भीड़ से डरती हैं. ममता पर हमला करते हुए कहा कि ये देश का दुर्भाग्य रहा कि आज़ादी के बाद भी अनेक दशकों तक गांव की स्थिति पर उतना ध्यान नहीं दिया गया, जितना देना चाहिए था. यहां पश्चिम बंगाल में तो स्थिति और भी खराब है.

मैंने कल कहा था कि ये बजट तो एक शुरुआत भर है. चुनाव के बाद जब पूर्ण बजट आएगा तो किसानों युवाओं और कामगारों की स्थिति और स्वस्थ्य हो जाएगी. कल बजट में जो घोषणाएं की गई हैं उनसे देश के 12 करोड़ से ज्यादा छोटे किसान परिवारों, 30-40 करोड़ श्रमिकों, मजदूर भाई-बहनों और 3 करोड़ से अधिक मध्यम वर्ग के परिवारों को सीधा लाभ मिलेगा.

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी कहा, ‘जब टीएमसी की सरकार बनी, उस समय चुनाव के दौरान टीएमसी के नेताओं ने मां, माटी और मानुष की बात कही थी. लेकिन आज हालात यहां पर ऐसे हो गए हैं कि ना मानव सुरक्षित है, मा मानुष सुरक्षित है और मा माटी सुरक्षित है.

राजनाथ ने कांग्रेस पर तंज कस्ते हुए कहा की कांग्रेस ने किसानों का ढाई लाख रुपये कर्ज माफ करने का वादा किया था लेकिन माफी हुई केवल 13 रुपये की. ये कहानी है मध्यप्रदेश की. और राजस्थान में सरकार ने तो अब अपने हाथ ही खड़े कर दिए हैं. उसका कहना है कि कर्जमाफी से राज्य पर बोझ बढ़ेगा.

गणतंत्र बचाओ यात्रा के तहत भाजपा अगले आठ दिनों के दौरान पश्चिम बंगाल के विभिन्न हिस्सों में कम से कम 10 रैलियां करेगी। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के अलावा पार्टी के दूसरे शीर्ष नेता भी शिरकत करेंगे.